Tuesday, December 7, 2021

भांकरी में जमकर हो रहे अवैध निर्माण, निर्माणधीन ईमारतों को जारी किए जा रहे कंपलीशन प्रमापण पत्र

Must Read

मात्र 28 रुपए का कर्ज चुकाने अमेरिका से हरियाणा आया ये शख्स, साल 1954 में ली थी इस हलवाई से उधारी

हिसार। कहते हैं कि जीवन में यदि आपने किसी से उधार लिया है तो वह आपको अगले जन्म में...

मुसीबत है कि पीछा नहीं छोड़ती, 86 साल की उम्र में भी 6 लोगों का पेट पाल रहे हैं ये बुजुर्ग बाबा

फ़रीदाबाद । आमतौर पर कई लोग छोटी छोटी मुश्किलों के सामने भी हार मानकर बैठ जाते हैं लेकिन ऐसे...

पेट्रोल-डीजल की महंगाई से बचना है तो करें ये मामूली सा उपाय, मिलेगी बड़ी राहत और बचेंगे हजारों रुपए

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल के रेटों को लेकर इन हाय-तौबा मची हुई है। देश में हर रोज पेट्रोल...

फरीदाबाद। यह शहर पूरी तरह से लूटो और खाओ की नीति पर चल रहा है। नगर निगम के अधिकांश अधिकारी इस नीति में अव्वल दर्जा पा चुके हैं। इंजीनियर ब्रांच से लेकर सर्वे और तोडफ़ोड़ विभाग में जमकर भ्रष्टाचार का खेल खेला जा रहा है। अधिकारी जितना अधिक भ्रष्टाचार के जरिए रुपया बटोर रहे हैं, अपनी खाल बचाने के लिए ऊपर तक उसकी बंदरबांट भी कर रहे हैं। यही वजह है कि इंजीनियरिंग ब्रांच के काले कारनामों को लेकर जल्द ही स्टेट विजिलेंस ब्यूरो द्वारा फरीदाबाद नगर निगम के कुछ अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की तैयारी की जा चुकी है। इस खबर के लीक होने के बाद से निगम में हडकंप मचा हुआ है। इसके बावजूद अधिकारी सुधरने के लिए तैयार नहीं हैं।

चपरासी ले रहा अवैध निर्माणों के ठेके

हालांकि भ्रष्टाचार पर प्रहार करते हुए नगर निगम आयुक्त यशपाल यादव ने अपनी ओर से तोडफ़ोड़ विभाग को समाप्त कर दिया है तथा 40 वार्डों में काम कर रहे एसडीओ और जेई को अवैध निर्माण रोकने की जिम्मेदारी सौंप दी है। आयुक्त के इस निर्णय के बाद तोडफ़ोड़ विभाग में हर रोज लाखों रुपए की उगाही करने वाले अधिकारियों के पेट में बल पड़े हुए हैं। उन्होंने आयुक्त के इस निर्णय का नया तोड़ निकाल लिया है। एक अधिकारी ने तो अपने पालतू चपरासी को उगाही के नए फार्मूले के साथ बाजार में उतार दिया है। यह चपरासी अब अपने इलाके में आने वाले सभी वार्डों के एसडीओ से अवैध निर्माणों का ठेका लेने लगा है। इस चपरासी व उसके आका एसडीओ ने प्रस्ताव तैयार किया है कि उनका धंधा पहले से ही चल रहा है। नए सिरे से यदि नए एसडीओ व इंजीनियर फील्ड में जाएंगे तो सभी को परेशानी होगी। इसलिए उन्हें कुछ करने की जरूरत नहीं है और इसके एवज में उन्हें घर बैठे तय रकम पहुंचा दी जाएगी। उगाही का काम उनका पुराना चपरासी ही करेगा।

इस फार्मूले पर सहमत हुए सभी

मजे की बात है कि ज्यादातर एसडीओ इस प्रस्ताव को मान गए हैं। राजीनामे के बाद बीते वीरवार को तोडफ़ोड़ विभाग का एक चपरासी दिनभर इलाके में घूमा। उसने सभी को बता दिया कि उगाही व अवैध निर्माण उनके सरंक्षण में ही जारी रहेंगे। इसके बाद बकायदा उगाही शुरू हो गई, मगर अवैध निर्माणों के रेट बढ़ा दिए गए हैं। कमिशनर की जानकारी में यही है कि उन्होंने इस विभाग को बंद कर दिया है। बता दें कि ना केवल अवैध निर्माण बल्कि कंपलीशन का धंधा भी इसी अधिकारी ने अपने अधीन ले लिया है। हालांकि अपनी सैटिंग से पहले ही इस एसडीओ ने मलाई वाले वार्ड अपने नाम एलॉट करवा लिए हैं।

गांव भाखंरी में जमकर हो रहे अवैध निर्माण

वहीं दूसरी ओर यदि बात करें अवैध निर्माण और कंपलीशन की तो गांव भांखरी में इन दिनों बड़ी-बड़ी ईमारतें अवैध रूप से बनाई जा रही हैं। जिनसे लाखों रुपए की उगाही हो रही है। मजे की बात तो यह है कि जितना कमिश्नर सोच भी नहीं सकते, उससे कहीं अधिक उगाही का खेल हो रहा है। इसके अलावा निर्माणधीन ईमारतों के कंपलीशन प्रमाण पत्र भी धड़ल्ले से जारी किए जा रहे हैं। एक शिकायतकर्ता ने कमिश्नर को शिकायत देकर इसका भंडा फोडऩे का काम किया है। यही शिकायतकर्ता अब इस मामले को व्यक्तिगत रूप से मुख्यमंत्री मनोरह लाल तक भी लेकर जा रहा है। सीएम ने हाल ही में भ्रष्ट अधिकारियों पर कार्रवाई करने के लिए स्पष्ट रूप से आदेश दिए हैं।

- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Connect With Us

223,344FansLike
3,123FollowersFollow
3,497FollowersFollow
22,356SubscribersSubscribe

Latest News

मात्र 28 रुपए का कर्ज चुकाने अमेरिका से हरियाणा आया ये शख्स, साल 1954 में ली थी इस हलवाई से उधारी

हिसार। कहते हैं कि जीवन में यदि आपने किसी से उधार लिया है तो वह आपको अगले जन्म में...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -
Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
error: Content is protected !!