Monday, November 29, 2021

हरियाणा के पलवल में सरकार ने बनाई रोजगार फैक्ट्री, देश की बड़ी कंपनियों से टाईअप, हजारों युवाओं को मिलेगी नौकरी

Must Read

MCF के SDO सुमेर सिंह के खिलाफ पुलिस में शिकायत, पीडि़त महिला ने लगाया शारीरिक व मानसिक प्रताडऩा का आरोप

फरीदाबाद। नगर निगम फरीदाबाद के विवादित एसडीओ सुमेर सिंह के खिलाफ एक महिला ने मानसिक, व शारीरिक प्रताडऩा देने...

गैंगस्टर नीरज बवाना गिरोह पर हरियाणा पुलिस की रेड, बुलेट प्रूफ गाड़ी सहित भारी मात्रा में हथियार बरामद

चंडीगढ़ । हरियाणा पुलिस ने कुख्यात नीरज बवाना गैंग के तीन सदस्यों को करनाल जिले से गिरफ्तार करते हुए...

पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग, हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट ने राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

गुरूग्राम । हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के प्रदेशाध्यक्ष संजय राठी ने गुरूग्राम में प्रदेश के राज्यपाल बंगारू दत्तात्रेय को...
पलवल । हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के युवाओं को शिक्षा के साथ-साथ कौशल में निपुण बनाने के लिए स्थापित देश का पहला कौशल विश्वविद्यालय मील का पत्थर साबित हो रहा है, क्योंकि कौशल ही देश, समाज और राष्ट्र को आगे बढ़ा सकता है। मुख्यमंत्री  पलवल में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के तृतीय स्थापना दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करने पहुँचे थे। कार्यक्रम में कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री  मूलचंद शर्मा भी उपस्थित रहे।  मनोहर लाल ने विश्वविद्यालय में चल रहे कार्यों की प्रगति को लेकर भी समीक्षा की।
मोदी ने विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी थी
 मनोहर लाल ने कहा कि युवाओं को समय की मांग के अनुरूप कौशल से जुड़ी शिक्षा प्रदान करने के लक्ष्य के साथ प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने इस विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी थी। यह विश्वविद्यालय प्रधानमंत्री के ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान को आगे बढ़ाने में मील का पत्थर साबित होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस विजऩ के साथ इस विश्विद्यालय की स्थापना की गयी थी, उसमे यह विश्विद्यालय पूरी तरह सफल हुआ है। राज्य सरकार युवाओं को कौशल में निपुण बनाने में सफल हुई है। उन्होंने कहा की विद्यार्थी इस विश्वविद्यालय से कौशल प्राप्त कर रहे हैं और रोजगार योग्य बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि पढ़ाई और हुनर में अंतर समझने की आवश्यकता है। कौशल ही देश, समाज और राष्ट्र को आगे बढ़ा सकता है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि एक तरह से यह विश्वविद्यालय युवाओं के लिए रोजगार फैक्ट्री के रूप में काम कर रहा है। इस विद्यालय में हर साल हजारों युवाओं को विशेष प्रशिक्षण देकर रोजगार उपलब्ध करवाया जाएगा तथा देश की बड़ी बड़ी कंपनियों से टाईअप कर युवाओं को रोजागर से जोड़ा जाएगा।
हर वर्ष 12000 स्किल युवा तैयार होंगे
 मनोहर लाल ने कहा की विश्विद्यालय से वर्ष 2030 तक हर वर्ष 12000 स्किल युवा तैयार होंगे। वर्तमान में हर वर्ष 4000 स्किल युवाओं को यूनिवर्सिटी में कौशल प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा की प्रत्येक इंडस्ट्री कौशल से सम्बंधित कोर्स शुरू करे और इस विश्वविद्यालय से एफिलिएशन करे, ताकि विद्यार्थियों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिले। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय उद्योग समेकित ‘अर्न-व्हायल लर्न’ मॉडल के साथ काम कर रहा है, जो विद्यार्थियों को अध्ययन के साथ-साथ कमाई का अवसर उपलब्ध करवाता है। यह विद्यार्थियों को वास्तविक रोजगार की दुनिया से रु-ब-रु करवाकर उन्हें अनुभव प्रदान करता है, ताकि भविष्य में उन्हें बेहतर रोजगार मिल सके।
खुद को मजबूती प्रदान करें
कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री  मूलचंद शर्मा ने कहा की विद्यार्थियों को चाहिए की वह कौशल के क्षेत्र में कुछ नए नवाचार का निर्माण करें और खुद को मजबूती प्रदान करें। उन्होंने कहा कि कौशल विश्वविद्यालय का निर्माण सरकार ने विद्यार्थियों में ज्यादा से ज्यादा कौशल प्रदान करने के लिए किया है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा उद्योगों के कर्मचारियों के लिए कस्टमाइज कार्यक्रम बनाने और अपने उत्कृष्टता केंद्र के माध्यम से कौशल उन्नयन कार्यक्रम संचालित करने की संभावना तलाशने के लिए मारुति इंडिया लिमिटेड, रिलायंस, हेल्थियंस, आनंद ग्रुप के साथ एमओयू किए जा रहे हैं।
विश्वविद्यालय में मूर्ति की स्थापना की
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री  मनोहर लाल और कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री  मूलचंद शर्मा व अन्य गणमान्य ने विश्वविद्याल विश्वविद्यालय में निर्मित मंदिर में मूर्ति की स्थापना की। विश्वविद्यालय के कुलपति  राज नेहरू ने कार्यक्रम में उपस्थित मुख्यमंत्री एवं उपस्थित सभी गणमान्य व्यक्तियों का हार्दिक आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय ने स्थापना के इतने कम समय में विभिन्न क्षेत्रों में बहुत सी उपलब्धियां हासिल की हैं।
विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किये  
स्थापना दिवस समारोह के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने द्वितीय विश्वकर्मा राष्ट्रीय कौशल उत्कृष्टïता पुरस्कार भी विजेताओं को प्रदान किये, जिसके तहत डेढ़ लाख रुपये की नगद ईनाम राशि भेंट की गई। यह पुरस्कार जमना ऑटो इंडस्ट्रिज को मिला। साथ ही हीरो मोटोकॉर्प को औद्योगिक श्रेणी में स्वर्ण पुरस्कार तथा इसी श्रेणी में लोटस पेटल चेरिटेबल फाउंडेशन को रजत पुरस्कार से सुशोभित किया गया। औद्योगिक सहयोगियों के रूप में एसकेएच इंडस्ट्रिज, बुल्सआई इम्पैक्स, बीकानेरवाला, इलेफि इंडस्ट्रिज को सम्मानित किया गया। कोविड-19 की रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले शिक्षकों को भी पुरस्कृत किया गया, जिनमेंं प्रो. ऋषिपाल, प्रो. सुरेश कुमार, प्रो. निर्मल सिंह, डा. राज आंतिल, विनय सैनी, डा. मोहित शामिल थे।
खेड़ी देवत व कुलदेवी मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा रखी
श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के तीसरे स्थापना दिवस समारोह की शुरुआत से पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विश्वविद्यालय परिसर में खेड़ी देवत व कुलदेवी मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा रखी। उन्होंने पूर्ण विधि-विधान के साथ हवन-यज्ञ करते हुए आरती की। माता की आराधना कर उन्होंने कुलदेवी का आशीर्वाद लिया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि इस विश्वविद्यालय के बनने से इस क्षेत्र के युवाओं को निश्चित ही लाभ मिलेगा। हजारों युवक कौशल विकास के माध्यम से अपना जीवन यापन करने में सफल होंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ कला अथवा हुनर होना जरूरी है, ताकि अपने जीवन यापन के लिए सरल तरीके से रोजगार प्राप्त कर आगे बढ़ सकें। उन्होंने कहा कि भारत आत्मनिर्भर तभी बन सकता है, जब युवा शक्ति कौशल विकास के माध्यम से अपने आप को रोजगार लेने की अपेक्षा देने का कार्य करें।
गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे
इस अवसर पर विधायक जगदीश नायर, विधायक दीपक मंगला, विधायक प्रवीन डागर, विधायक नरेंद्र गुप्ता, भाजपा के पलवल जिलाध्यक्ष चरण सिंह तेवतिया व फरीदाबाद भाजपा के जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, राजनीतिक सचिव अजय गौड़, मीडिया कोर्डिनेटर मुकेश वशिष्ठï, अरूण गुप्ता, आयुक्त संजय जून, एमरवि किरण, उपायुक्त कृष्ण कुमार, एसपी वरूण सिंगला आदि अधिकारीगण व गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Connect With Us

223,344FansLike
3,123FollowersFollow
3,497FollowersFollow
22,356SubscribersSubscribe

Latest News

MCF के SDO सुमेर सिंह के खिलाफ पुलिस में शिकायत, पीडि़त महिला ने लगाया शारीरिक व मानसिक प्रताडऩा का आरोप

फरीदाबाद। नगर निगम फरीदाबाद के विवादित एसडीओ सुमेर सिंह के खिलाफ एक महिला ने मानसिक, व शारीरिक प्रताडऩा देने...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -
Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
error: Content is protected !!