Sunday, October 17, 2021

इस मासूम लडक़ी का देखिए त्याग, कैंसर पीडि़तों के दुख में कटवा दिए अपने लंबे-घने बाल और हो गई गंजी

Must Read

दिल्ली में बन रही है सबसे बड़ी सुरंग सडक़, बिना जाम के फर्राटा भरेंगे एनसीआर और हरियाणा के लोग

नई दिल्ली। दिल्ली के लोगों के लिए यह बड़ी खुशखबरी हो सकती है। अब उन्हें दिल्ली के जाम से...

खूबसूरत होने के साथ ही बेहद ही इंटेलीजेंट हैं IAS टीना डाबी, UPSC स्टुडेंटस को देती हैं टिप्स

नई दिल्ली। यूपीएससी पास करने के बाद आईएएस अधिकारियों को कौन सी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। यह...

केंद्रीय मंत्री गुर्जर ने कहा, राशन कार्ड है तो जरूर मिलेगा मुफ्त अनाज, टेंशन लेने की जरूरत नहीं

फरीदाबाद । प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना जरूरतमंद परिवारों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण महत्वकांक्षी योजना है। यह विचार ऊर्जा एवं...

नई दिल्ली। हर लड़की का सपना होता है कि उसके बाल लंबे होने के साथ काले घने होने चाहिए। जिसके लिए लड़कियां न जाने कितने ही उपाय व जतन करती हैं। हालांकि किसी के बाल लंबे होते हैं तो काले घने नहीं होते। बहरहाल, आज हम आपको एक ऐसी लडक़ी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने हंसते-हंसते अपने सर के बालों को मुंडवा दिया।

 कैंसर  मरीजों के लिए दान कर दिए बाल

20 साल की श्रुति मैती को भी अपने बाल से काफी प्यार था। वह थर्ड ईयर की छात्रा हैं। फिर भी उन्होंने इस बारे में नहीं सोचा कि कॉलेज जाने पर लोग क्या कहेंगे। बाल नहीं होने से उनकी सुंदरता में भी कमी आएगी। लेकिन श्रृति ने इन सब बातों पर ध्यान नहीं देते हुए खुशी-खुशी अपने बाल कैंसर के मरीजों के लिए दान कर दिए हैं। वह कहती है गुण अच्छे होने चाहिए, बाकी तो सब सुंदर है। वह कहती हैं कि एक कैंसर रोगी के चेहरे पर एक मुस्कान मेरे बालों की तुलना में अधिक सुंदर है।

मुझे सर मुंडवाने का ख्याल आया

श्रुति मैती बारिपदा शहर के तुलसीचौरा इलाके में रहती हैं। वह बताती हैं कि उन्होंने बाल दान करने के लिए अभी कुछ दिन पहले ही सोचा था। उन्होंने बताया कि जब मैं प्लस-2 के अंतिम वर्ष में थी तो मुझे सर मुंडवाने का ख्याल आया था। उन्होंने बताया कि वह अपने एक करीबी दोस्त की मां से मिले, जिनका कीमोथेरेपी के कारण बाल खत्म हो चुके थे। बस मैंने उसी वक्त सोच लिया कि हम इनकी मदद करेंगे । श्रुति मैता ने इसके बाद उन लोगों से संपर्क किया जो कैंसर पीडि़तों के लिए विग तैयार करते हैं। लेकिन वो मदद न कर सके। इसके बाद मैती ने इंटरनेट पर उन संगठनों की खोज की जो कैंसर रोगियों के लिए विग बनाने के लिए महिलाओं के बाल खरीदते हैं। आखिर में दो संगठन मिल ही गए । मैती बताती हैं कि उन्होंने एक नाई को अपने घर तीन दिन पहले बुलाया था। लेकिन उसने बाल काटने से मना कर दिया। जब नाई को मैती के बाल कटवाने के पीछे का मकसद पता चला तो उसे फ्री में बाल काट दिए। मैती बताती हैंं कि वह इन बालों को कूरियर की मदद से संगठन को भेज देंगी। श्रुति की मां ने कहा कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है।

source the new indian express

- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Connect With Us

223,344FansLike
3,123FollowersFollow
3,497FollowersFollow
22,356SubscribersSubscribe

Latest News

दिल्ली में बन रही है सबसे बड़ी सुरंग सडक़, बिना जाम के फर्राटा भरेंगे एनसीआर और हरियाणा के लोग

नई दिल्ली। दिल्ली के लोगों के लिए यह बड़ी खुशखबरी हो सकती है। अब उन्हें दिल्ली के जाम से...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -
Do NOT follow this link or you will be banned from the site!