Monday, September 20, 2021

हरियाणा की वो तीन जुझारू IAS बहनें, जिन्होंने मुख्य सचिव बनकर किया अपने माता पिता का नाम रोशन

Must Read

फरीदाबाद में वैश्य समाज के तृतीय मेगा वैक्सीनशन कैम्प में हुआ 701 का टीकाकरण

फरीदाबाद । वैश्य समाज सेक्टर 28,29,30,31द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से आयोजित तृतीय मेगा वैक्सीनशन कैम्प मे 701 जनों...

केंद्रीय मंत्री गुर्जर ने कहा, फरीदाबाद से आसान होगा जेवर एयरपोर्ट जाना, 119 करोड़ से बनेंगी औद्योगिक क्षेत्र की सडक़ें

फरीदाबाद,18 सितंबर। औद्योगिक क्षेत्र के अंतर्गत सेक्टर-24, 25 व 32 (डीएलएफ इंडस्ट्रीयल एरिया) में 119 करोड़ रुपये की लागत...

Faridabad News – रविंदर फागना क्रिकेट अकादमी ने आरपीसीए स्टोर को 96 रन से हराया

फरीदाबाद । रविंदर फागना क्रिकेट अकादमी मैदान पाली में प्रैक्टिस मैच खेला गया यह मैच रविंदर फागना क्रिकेट अकादमी...
चंडीगढ़। देश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा यूपीएससी के जरिए आईएएस और आईपीएस का सपना आज देश का हर युवा करता है। बहुत से लोग इसमें पास होकर सफलता की सीढिय़ां चढ़ते हैं तो कई युवा तमाम कोशिशों के बावजूद पास नहीं हो पाते। मगर आज हम आपको हरियाणा की उन तीन सगी बहनों से रूबरू करवाने जा रहे हैं, जिन्होंने ना केवल यूपीएससी की परीक्षा को पास कर आईएएस बनकर दिखाया, बल्कि प्रदेश के सबसे बड़े पद मुख्य सचिव की कुर्सी पर बैठकर अपने माता पिता का नाम रोशन किया है। हरियाणा के प्रशासनिक क्षेत्र में इन तीनों बहनों का नाम आदर व सम्मान के साथ लिया जाता है। बात कर रहे है हरियाणा की सगी बहनें- केशानी, मीनाक्षी और उर्वशी की, जिन्होंने न केवल आईएएस परीक्षा पास की बल्कि तीनों ही हरियाणा की मुख्य सचिव की कुर्सी तक भी पहुंचने में कामयाब रहीं। आइए जानते है तीन बहनों की सफलता के बारे में
केशानी आनंद अरोड़ा
केशानी ने पिछले साल 30 जून को हरियाणा की मुख्य सचिव का पद हासिल किया था और 1983 बैच की आईएएस अफसर हैं। हरियाणा की कुल 33 वीं और पांचवीं महिला मुख्य सचिव केशानी ने इस पद को बाखूबी संभाला और अपनी कार्यप्रणाली से अफसरशाही में विशेष स्थान हासिल किया। हरियाणा के मुख्य सचिव के पद से वह रिटायर हो चुकी हैं।
केशनी राज्य की पहली महिला डिप्टी कमिश्नर बनीं और  राज्य की मुख्य सचिव बनीं , ये पल उनके और उनके परिवार के लिए बहुत ही ख़ास था क्योंकि ये अपने परिवार की तीसरी बहन थीं जो कि किसी राज्य की मुख्य सचिव बनी थीं।
केशानी का जन्म 20 सितंबर 1960 को पंजाब में हुआ
केशानी का जन्म 20 सितंबर 1960 को पंजाब में हुआ। बता दें कि राजनीति विज्ञान से एमए व एमफिल करने वाली केशानी अपने बैच की टॉपर रहीं। वह हरियाणा कैडर के 1983 आईएएस बैच की टॉपर भी रहीं। केशानी ने आस्ट्रेलिया स्थित सिडनी से एमबीए की डिग्री ली.यहां तक कि हरियाणा राज्य अस्तित्व में आने पर 16 अप्रैल 1990 को वह प्रदेश की पहली महिला उपायुक्त भी बनीं।

मीनाक्षी चौधरी
तीनों बहनों में सबसे पहले मीनाक्षी ने हरियाणा के मुख्य सचिव पद तक का सफर तय किया था, उन्हीं के बाद दोनों बहनें उर्वशी और केशानी इस पद पर काबिज हुईं। मीनाक्षी ने 8 नवंबर 2005 से लेकर 30 अप्रैल 2006 तक इस जिम्मेदारी का बखूबी निवर्हन किया. मीनाक्षी 1969 बैच की आईएएस अफसर हैं।
उर्वशी गुलाटी
मीनाक्षी के बाद उर्वशी गुलाटी ने हरियाणा के मुख्य सचिव पद की जिम्मेदारी निभाई। उर्वशी गुलाटी 1975 बैच की आईएएस अफसर है और उन्होंने अपना कार्यकाल 31 अक्टूबर 2009 से शुरू किया था, इसके बाद वह साल 2012 में 31 मार्च तक इस पद पर कायम रहीं । केशानी का सफलता को लेकर कहना है कि महिलाओं को हमेशा अपने अधिकारों के लिए लड़ना पड़ता है। अगर महिलाओं को सही माहौल मिले तो वो कुछ भी हासिल कर सकती हैं।
- Advertisement -
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Connect With Us

223,344FansLike
3,123FollowersFollow
3,497FollowersFollow
22,356SubscribersSubscribe

Latest News

फरीदाबाद में वैश्य समाज के तृतीय मेगा वैक्सीनशन कैम्प में हुआ 701 का टीकाकरण

फरीदाबाद । वैश्य समाज सेक्टर 28,29,30,31द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से आयोजित तृतीय मेगा वैक्सीनशन कैम्प मे 701 जनों...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -
Do NOT follow this link or you will be banned from the site!