मौसम विभाग का अलर्ट, Delhi-NCR और हरियाणा में इस दिन आएगी बारिश, मुंबई में बाढ़ के हालात

0
New Delhi News (citymail news) बीते मंगलवार को राजस्थान की ओर से आई धूलभरी गर्म हवाओं ने हरियाणा में गर्मी के प्रभाव को ओर ज्यादा बढ़ा दिया है। जिसके बाद से लू जैसी गर्मी  लग रही है। तापमान में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। जिसमें तापमान सामान्य से 5 डिग्री ज्यादा देखने को मिला। जहां दिन का पारा रोहतक में 44.7 डिग्री तक पहुंचा तो रात का पारा सिरसा में 31.2 डिग्री तक रहा।
वहीं दिल्ली-एनसीआर के शहरों में भी लोग प्रचंड गर्मी से झुलस रहे हैं। लोगों को बारिश का बेसब्री से इंतजार है। वहीं मौसम विभाग ने लोगों की इस परेशानी को समझते हुए बारिश आने की घोषणा कर दी है। बताया जा रहा है कि दिल्ली-एनसीआर के साथ साथ हरियाणा में भी 11 जून से 15 जून के बीच प्री-मानसून की शुरूआत हो जाएगी और लोगों को झुलसाने वाली गर्मी से राहत मिलेगी।
अब इसी के चलते मौसम विभाग द्वारा गर्मी की मार झेल रहे हरियाणा वासियों के लिए अच्‍छी खबर  है। जी हां, अब प्रदेश में 15 जून तक प्री मॉनसून का असर दिखने की संभावना जताई जा रही है। वहीं 12 जून के बाद से प्री मॉनसून की गतिविधियां तेज होने लगेगी। जिसमें की 15 तक बरसात होने की संभावना है।

वहीं मौसम वैज्ञानिको के मुताबिक इस बार गर्मी तो होगी, लेकिन पिछले कुछ वर्षों की तुलना की जाए तो इस बार गर्मी का असर कम देखने को मिलेगा। साथ ही अगर प्री मॉनसून का असर 15 जून तक प्रभावी होता दिखा तो गर्मी से लोगों को राहत भी मिलेगी। उधर, देखा जाए तो अच्छी बात ये है कि हरियाणा में धान रोपाई का काम भी 15 जून से शुरू हो जाएगा। इसलिए अब होने वाली बरसात किसानों के लिए किसी वरदान से कम नहीं होगी।
मौसम विभाग ने ये भी जानकारी दी कि  11 जून तक उमसभरी गर्मी लोगों को सताएगी। लेकिन 11 जून की रात से मौसम में बदलाव आने की पूरी संभावना बनती नजर आ रही है। इसके चलते बंगाल की खाड़ी से नमी वाली हवाएं हरियाणा की तरफ आएगी। जिसके कारण 12 से 14 जून तक बारिश हो सकती है। इधर, 9 और 10 जून को 30-40 किमी प्रति घंटे की गति से धूलभरी हवाएं चलने के भी आसार बनते नजर आ रहे है। बता दें अब होने वाली बारिश को इसे प्री-मॉनसून की बारिश माना कहा जाएगा। आपको बता दें कि प्री-मॉनसून के बाद मॉनसून तकरीबन 10 से 12 दिनों में दस्तक देगा।

 

इस बीच मानसून महाराष्ट्र में प्रवेश कर चुका है और मुंबई में भारी स्तर पर बारिश हो रही है। मुंबई के कई इलाकों में तो बाढ़ जैसे हालत पैदा हो गए हैं। मुंंबई के नीचे इलाकों में तो बारिश ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। कई जगह बाढ़ जैसे हालत दिखाई देने लगे हैं। रेल की पटरियां भी बारिश के पानी में डूब गई हैं। बारिश का अनुमान लगाने वाले स्काईमेट वेदर ने जानकारी दी है कि 13 जून के बाद बारिश की गतिविधियों में और अधिक इजाफा हो सकता है। इसलिए लोगों को पहले से ही इस भारी बारिश से बचने के इंतजाम कर लेने चाहिएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here