लॉकडाऊन में भी गड़बड़, फरीदाबाद में 50 लाख रुपए के काम में घोटाले का संदेह, चुप हुए अधिकारी

0
मात्र दो महीने में ही टूट गई हैं नालियां व सडक़ें
Faridabad News (citymail news) लॉकडाउन के समय में निगम ठेकेदार अधिकारियों के साथ मिलीभगत करके गड़बड़झाला करने से बाज नहीं आ रहे है। पहले वार्ड-5 में एक मामला सामने आया था। अब वार्ड-9 में नाली की गुणवत्ता को लेकर गोलमाल सामने आया है। लाखों की लागत से दो माह पहले बनाई गई नाली टूट गई।
ठेकेदार काम अधूरा छोड़ कर चला गया
स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि 50 लाख रूपये की लागत से गलियों में इंटरलॉकिंग टाइल व नाली बनाने का कार्य किया जाना था लेकिन अब ये काम भी ठेकेदार अधूरा छोड़ कर चला गया है। जिससे लोगों को परेशानी हो रही है। लोगोंं ये भी आरोप लगाया कि नाली बनाने में घटिया निर्माण सामाग्री का इस्तेमाल किया और मानकों के अनुरूप नालियां नहीं बनाई गई जिस कारण वह दो महीने के अंदर ही टूट गई।
लोगों ने नालियां के निर्माण पर ऐतराज जताया था
वॉर्ड नंबर 9 के अंतर्गत आने वाले नंगला एंकलेव पार्ट टू में गली नंबर 12 व आसपास की गलियों में इंटरलॉकिंग टाइल और नालियां बनाने का कार्य दो महीने शुरू होना था। नगर निगम इंजीनियरिंग ब्रांच के अुनसार 50 लाख रूपये के एस्टीमेट के तहत कार्य शुरू किया गया था। जब ये कार्य शुरू हुआ तो स्थानीय लोगों ने नालियां के निर्माण पर ऐतराज जताया था। स्थानीय निवासी मुकेश, संदीप, अभिनव, रामप्रकाश ने बताया कि नालियों को मानक के अनुरूप नहीं बनाया गया है। उस समय लोगों ने ठेकेदार को कहा भी था कि इसे मजबूती के साथ बनाया जाए लेकिन ठेकेदार ने नहीं सुनी और काफी कम निर्माण सामाग्री का इस्तेमाल कर नालियों का निर्माण कर दिया।
आज गलियों की सारी नालियां टूट चुकी है
नतीजा ये निकला कि आज गलियों की सारी नालियां टूट चुकी है। लोगों के घरों का पानी सडक़ोंं पर बहता रहता है जिससे सडक़ों पर कीचड़ हो चुका है। यहीं नहीं सडक़ोंं पर मैन हॉल भी खुले हुए हैं जिससे दुर्घटना होने का खतरा बना रहता है। इस बारे में नगर निगम चीफ इंजीनियर रामजी लाल ने बताया कि इस बारे में वह इंजीनियरिंग ब्रांच के अधिकारियों को आदेश देंगे कि वह मौके पर जाकर इसकी जांच करे।
आयुक्त से कार्रवाई करने की मांग
स्थानीय लोगों ने निगम आयुक्त श्रीमति गरिमा मित्तल से सारे मामले की जांच करवाकर दोषी अधिकारी व ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। लोगों को उम्मीद है कि कमिश्नर श्रीमति मित्तल इस दिशा में ठोस कदम अवश्य उठाएंगी और जल्द से जल्द लोगों को मुसीबत से छुटकारा दिलवाएंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here