बड़ी खबर, अब फरीदाबाद पुलिस कोरोना पीडि़तों को देगी फ्री एंबुलेंस सेवा, शहर में आई 10 इनोवा

0
फरीदाबाद। राज्य सरकार ने फरीदाबाद वासियों को बड़ी राहत प्रदान करते हुए 10 इनोवा बेतौर एंबुलेंस उपलब्ध करवाई हैं। यह सभी वाहन जिला पुलिस आयुक्त ओपी सिंह के पास भेजे गए, जहां से इन सभी वाहनों को उपायुक्त यशपाल यादव को सौंप दिया गया। यह सभी वाहन बी.के.अस्पताल के सीएमओ के अधीन रहेंगे,जबकि उन सभी वाहनों पर पुलिस कर्मियों को ड्राईवर के तौर पर नियुक्त किया जाएगा। इससे प्राईवेट एंबुलेंस चालकों के हाथों लूटपाट को काफी हद तक रोका जा सकेगा।
उपरोक्त गाड़ियाँ CMO BK हॉस्पिटल की सुपरविज़न में कोरोना काल के दौरान मरीजों को हॉस्पिटल लाने या हॉस्पिटल से घर ले जाने के लिए उपयोग में लाई जाएगी। CMO BK मरीज की जरूरत के मुताबिक गाड़ियों में ऑक्सीजन की सुविधा मुहैया कराएंगे। यह सभी गाड़ियां उन मरीजों के लिए उपयोगी साबित होगी जिन्हें वेंटीलेटर या स्ट्रेचर की जरुरत नहीं है| इस सेवा का ट्रांसपोर्टेशन सर्विस COV-HOTS नाम दिया गया है। एम्बुलेंस की कमी को देखते हुए इस सेवा को शुरू किया गया है जिससे लोगों को बड़ी राहत मिलेगी|
पुलिस आयुक्त ओपी सिंह की मांग पर पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने फरीदाबाद पुलिस को कोरोना काल में एम्बुलेंस की कमी को पूरा करने के लिए 10 इनोवा गाड़ी एम्बुलेंस के तौर पर उपलब्ध करवाई । कोरोना काल में लगातार बढ़ रहे मरीजों की संख्या के कारण एंबुलेंस की कमी पड़ रही थी जिसे देखते हुए पुलिस महानिदेशक  मनोज यादव ने इन गाड़ियों को स्वास्थ्य विभाग के कार्यों में उपयोग करने के आदेश दिए थे।
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि इन गाड़ियों में एंबुलेंस की तरह ऑक्सीजन  की सुविधा नहीं है , इसलिए इसमें गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीजों को लेकर नहीं जाया जाएगा ।  परंतु जो व्यक्ति गंभीर बीमारी से पीड़ित नहीं है और जिन्हें हॉस्पिटल में बेड अलोट हो चुका है या जिन्हें हॉस्पिटल से छुटी मिल चुकी हो, उनके लिए यह गाड़ियां किसी वरदान से कम नहीं है,क्योंकि इसमें उन्हें निशुल्क अस्पताल या घर ले जाया जा सकेगा।
इन गाड़ियों में कोरोना संबंधित सभी सावधानियों का ध्यान रखा जाएगा। इसमें ड्राइवर के साथ-साथ मरीजों को भी उचित दूरी बनाए रखना, फेस मास्क पहनना और सैनिटाइजर का उपयोग करना अनिवार्य होगा। पुलिस कर्मचारियों को ट्रांसपोर्टेशन के दौरान महामारी से बचाया जा सके इसलिए ड्राइवर और पीछे वाली सीट के बीच में शीशा भी लगवाया गया है जिससे संक्रमण न फैल सके। इन सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए नागरिक एंबुलेंस हेल्पलाइन नंबर 108 पर फोन कर सकते हैं और CMO के निर्देशानुसार नागरिक इन गाड़ियों का प्रयोग कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here