सैल्यूट,कोरोना पीडि़तों के घर खाना पहुंचाने के नेक काम में जुटे हैं सैनिक कालोनी फरीदाबाद के ये योद्धा

0

फरीदाबाद। कोरोना के इस संकट काल में जहां बहुत से लोग इस आपदा को अपने व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए अवसर बना रहे हैं, वहीं ऐसे लोगों की भी कोई कमी नहीं है, जिन्होंने इस आपदा को दूसरों की सेवा करने के लिए चुन लिया है। यहां बात कर रहे हैं फरीदाबाद की सैनिक कालोनी में रहने वाले उन चुनिंदा लोगों की, जिन्होंने कोरोना योद्धा की तर्ज पर काम करते हुए उन लोगों की सेवा करने का प्रण लिया है, जोकि इस बीमारी से पीडि़त हैं। इन कोरोना योद्धाओं ने पीडि़त लोगों की सहायता करने का वचन लेते हुए गजब का काम शुरू किया है।

कोरोना सक्रंमित के घर पहुंचा रहे हैं खाना

ये सभी लोग मानवता को ध्यान में रखते हुए कोरोना सक्रंमित लोगों के घरों में खाना पहुंचाने का नेक काम कर रहे हैं। ऐसे लोगों की जितनी सराहना और प्रशंसा की जाए वह कम है। पिछले दस दिनों से ये सभी लोग निरंतर बिना रूके और बिना थके कोरोना पीडि़त लोगों के घरों में खाना पहुंचाने का काम कर रहे हैं। गुलशन गाबा, गौरव अरोड़ा, ललित गुलाटी उर्फ लवली, निधि अरोड़ा, मनोरमा अरोड़ा, सतीश अरोड़ा, अनिल अरोड़ा, रूही कौशिक,ज्योत्सना वोहरा, प्रतिभा अरोड़ा, कामना भुटानी और अंजू सलूजा ने इस नेक काम की शुरूआत की है।

खुद बनाकर लाते हैं खाना

ये सभी लोग अपने घरों से खाना बनाकर उनकी पैकिंग कर कोरोना पीडि़तों के घर सुबह से रात तक पहुंचाते हैं। गुलशन गाबा ने बताया कि वह सभी पिछले दस दिनों से लगातार इस सेवा में लगे हैं। उनके अनुसार वह सभी अपने घरों से खाना बनाकर लाते हैं। फिर उन कोरोना पीडि़तों के घर इस खाने की डिलीवरी करते हैं, जोकि फिलहाल अपने घरों में खाना बनाने की स्थिति में नहीं हैं। श्री गाबा ने बताया कि इस सेवा को वह सैनिक कालोनी सैक्टर 49 एवं एनआईटी नंबर-3 में कर रहे हैं। जैसे ही उनके पास किसी घर से फोन आता है तो उनके सदस्य अपनी डयूटी के हिसाब से खाने की डिलीवरी शुरू कर देते हैं। ललित गुलाटी उर्फ लवली ने बताया कि उनकी यह सेवा तब तक जारी रहेगी, जब तक कोरोना का संकट समाप्त नहीं हो जाता।

सभी रखें अपना ध्यान- राजू

वहीं सैनिक कालोनी रेजीडेंटस वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान अनिल अरोड़ा राजू ने कहा है कि यह बीमारी भयंकर रूप धारण कर चुकी है। इसलिए सभी लोगों से अपील करते हैं कि मास्क, सोशल डिस्टेंस और सेनीटाईजर का उपयोग जरूर करें। उन्होंने कि जब तक यह संकट टल नहीं जाता, तब तक लोगों को अपने घर से जब तक बहुत जरूरी काम ना हो बाहर नहीं निकलना चाहिए। अनिल अरोड़ा राजू ने कहा कि इस वक्त देश संकट से गुजर रहा है। इसलिए हम सभी का दायित्व है कि एक दूसरे की मदद करें और जितना हो सके उतना लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक जरूर करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here