MCF के इंद्रजीत कुलेरिया की बदतमीजी से नाराज कर्मचारियों ने हल्ला बोला, विरोध में धरने पर बैठे

0
- Advertisement -

नगर निगम के अतिरिक्त सहायक कमिश्नर (AMC) इंद्रजीत कुलेरिया के खिलाफ कर्मचारी और अधिकारियों ने हल्ला बोल दिया है। कुलेरिया पर आरोप है कि वह अक्सर उनके साथ अभद्रता करते हैं। बीते मंगलवार को भी टैक्स विभाग के कर्मचारी और अधिकारियों के साथ बैठक में कुलेरिया ने बदतमीजी की। टैक्स विभाग के सीनियर जेडटीओ अनिल रखेजा को उन्होंने कथित तौर पर जूता तक मारने की बात कही। जब कुछ कर्मचारियों ने इसमें हस्तक्षेप करना चाहा तो उन्हें भी कुलेरिया ने बुरी तरह से डांट दिया।

दरी बिछाकर कर्मचारी धरने पर

अतिरिक्त सहायक (AMC) कमिश्नर इंद्रजीत कुलेरिया के इस कथित व्यवहार को लेकर निगम के कर्मचारी और अधिकारियों ने बुधवार की सुबह निगम मुख्यालय में उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। खबर लिखे जाने तक निगम मुख्यालय में स्थित पार्क में कर्मचारी व अधिकारी दरी बिछाकर बैठ गए हैं।

चमचे टाईप नेताओं का शुरू हुआ दखल

हालांकि इस प्रदर्शन और धरने को रूकवाने के लिए कुछ चमचे टाईप के कर्मचारी नेता अपनी टांग अडाए हुए हैं। ये वो कर्मचारी नेता हैं, जोकि निगम के सेवाओं से रिटायर हो चुके हैं। इसके बावजूद अपनी चमचागिरी की दुकान चलाने को लेकर ही वह भीतरखाने कुलेरिया के पक्ष में आ रहे हैं। दरअसल इसमें उनका व्यक्तिगत स्वार्थ कहा जा रहा है और अपनी नेतागिरी की दुकान चलाने के लिए ही वह इस अधिकारी के पक्ष में माहौल बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

बंद कमरे में मीटिंग का रखा प्रस्ताव

वहीं कुछ कर्मचारियों का कहना है कि इन तथाकथित नेताओं ने ही नगर निगम का सारा माहौल खराब कर रखा है। लोगों का कहना है कि कर्मचारी नेता होने के चलते उन्हें कर्मचारियों का ही साथ देना चाहिए, पंरतु वह अपनी स्वार्थपूर्ति के लिए कर्मचारियों का ही शोषण करवाते हैं। इन तथाकथित चमचा टाईप नेताओं ने प्रस्ताव रखा है कि चार कर्मचारी चुपचाप कुलेरिया के आफिस में चलकर वार्ता कर लेते हैं। इनके सामने अधिकारी अपने व्यवहार को लेकर बंद कमरे में माफी मांग लेंगे और सारा मामला सैटल हो जाएगा। परंतु धरने पर बैठने वाले कर्मचारियों ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया और तथाकथित नेताओं को खूब खरी खोटी सुना दी। अब इस मामले को लेकर निगम के कर्मचारी धरने पर बैठ गए हैं और कुलेरिया के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

हवा में है कुलेरिया का दिमाग

बता दें कि AMC इंद्रजीत कुलेरिया ना तो आईएएस आफिसर हैं और ना ही एचसीएस अधिकारी। इसके बावजूद उन्हें निगम में ऐसे बहुत से अधिकार प्राप्त हैं, जिसके बाद उनका हवा में उडऩा लाजिमी है। आरोप हैं कि इतनी पावर मिलने के बाद उनका दिमाग हवा में है। वह खुद को निगम का खुदा समझ बैठे हैं और कर्मचारियों से बदतमीजी करने को अपना अधिकार मानते हैं। यही वजह है कि बात-बात पर वह गुर्राते हैं। इससे कर्मचारियों में रोष है, इसलिए जब पानी सिर से ऊपर पहुंच गया तो वह धरने पर बैठ गए। इस पूरे मामले में जब उनका पक्ष जानने का प्रयास किया गया तो उन्होंने कहा कि वह मीटिंग में है। इसलिए खबर में उनका पक्ष नहीं आ पाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here