हरियाणा: उपवास पर बैठे भाजपाईयों की शामत, किसानों ने उखाड़े टैंट और दौड़ाया, सांसद व विधायक हो गए गायब

0

कृषि कानूनों का एवं एसवाईएल नहर के लिए आभार जताने के लिए उपवास करने के लिए पहुंचे भाजपा नेताओं व किसानों के बीच जमकर संघर्ष हुआ। यह घटना शनिवार को फतेहाबाद के पपीहा पार्क में घटित हुई। इस उपवास की वजह से किसान इतने उग्र हो गए कि उन्होंने भाजपाईयों को दौड़ा दिया और उनके धरना स्थल पर कब्जा कर लिया। उपवास के लिए लगाया गया टैंट भी उखाड़ दिया गया।

पुलिस भी किसानों को नहीं रोक पाई-

मौके पर मौजूद एसपी राजेश कुमार भी उग्र किसानों को नहीं रोक पाए। इसके बाद भाजपा नेता व कार्यकर्ताओं ने घटना स्थल से भागने में ही भलाई समझी। हालांकि इस कार्यक्रम में भाजपा सांसद सुनीता दुगगल, विधायक दुडाराम, विधायक लक्ष्मी नापा सहित पूर्व विधायक व पार्टी के पदाधिकारियों को भी आना था। मगर किसानों के उग्र होने की जानकारी मिलते ही वहां कोई नहीं पहुंचा। भाजपा के जिलाध्यक्ष बलदेव सिंह अपने करीब पचास समर्थकों के साथ मौके पर पहुंचे थे। जिन्हें किसानों ने बुरी तरह से खदेड़ दिया। इस घटना में भाजपा जिलाध्यक्ष की पगड्डी खुल गई और वह किसी तरह से अपनी जान बचाकर वहां से निकले।

भारी पड़ गया कृषि बिल का समर्थन-

जानकारी के अनुसार भाजपा जिला इकाई ने कृषि बिल के समर्थन में उपवास रखने का कार्यक्रम तय किया था। जैसे ही इलाके के किसानों को इस उपवास कार्यक्रम की जानकारी मिली तो वह भारी संख्या में मौके पर पहुंच गए। किसानों ने पपीहा पार्क पहुंचकर धरने पर बैठे भाजपा नेता व कार्यकर्ताओं को खरी खोटी सुनानी शुरू कर दी। देखते ही देखते किसान उग्र हो गए और उन्होंने उपवास पर पहुंचे नेताओं को भगाना शुरू कर दिया। कई नेताओं को तो किसानों ने गली में भी भगाया। मौके पर मौजूद एसपी राजेश कुमार भी किसानों को नहीं रोक पाए। उन्होंने किसी तरह से भाजपा कार्यकर्ता व नेताओं को समझा और वहां से निकाला। कईयों को तो पुलिस वाहन में बिठाकर वहां से सुरक्षित निकाला गया। इस तरह से कृषि बिल के विरोध में किसान बुरी रह से गुस्साए हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here