ठेंगे पर कोरोना, प्राईवेट स्कूल मालिकों के दबाव में दोबारा स्कूल खोल रही है सरकार, फीस देने को तैयार रहें अभिभावक

0
- Advertisement -
Chandigarh News (citymail news) सरकार 10 व 12वीं के छात्रों के लिए सोमवार से स्कूल खोलने जा रही है। 9 वीं व11वीं के छात्रों के लिए 21 दिसंबर से स्कूल खोले जाएंगे। हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने इसे प्राइवेट स्कूल  संचालकों का दबाब बताया है जिससे वे छात्रों के अभिभावकों से बढ़ाई गई गैरकानूनी ट्यूशन फीस व प्रतिबंधित किए गए फंड जैसे एडमिशन फीस, एनुअल चार्ज, ट्रांसपोर्ट फीस, कंप्यूटर फीस आदि वसूल सकें।
मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा व जिला सचिव डॉ मनोज शर्मा ने कहा है कि अगर ऐसा हुआ तो मंच दोषी स्कूलों के खिलाफ लीगल कार्रवाई करेगा। मंच ने अभिभावकों से कहा है कि वे स्कूलों की किसी भी गैर कानूनी बात को ना मानें। पंजाब एंड हाई कोर्ट व शिक्षा विभाग ने जो फैसला दिया है कि स्कूल प्रबंधक सिर्फ गत वर्ष की ही बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस वसूलें इसके अलावा अन्य किसी फंड में एक पैसा भी ना लें, अभिभावक उसी के अनुसार फीस जमा कराएं। अगर स्कूल प्रबंधक गैरकानूनी फीस जमा कराने के लिए दबाव डालते हैं तो तुरंत इसकी लिखित शिकायत चेयरमैन फीस एंड फंड रेगुलेटरी कमेटी कम मंडल कमिश्नर फरीदाबाद व मंच के जिला कार्यालय चेंबर नंबर 56 जिला कोर्ट फरीदाबाद में करें ।मंच उनकी पूरी मदद करेगा।
मंच ने सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइन, जिसके अनुसार विद्यार्थी को अपने अभिभावक की लिखित में अनुमति लानी जरूरी होगी का भी विरोध किया है हरियाणा अभिभावक एकता मंच का कहना है कि अगर किसी भी कारण से छात्र कोरोना संक्रमित हो जाता है और उसके स्वास्थ्य पर बन आती है तो शिक्षा विभाग के अधिकारी व स्कूल प्रबंधक पर कोई जिम्मेदारी तय नहीं हो सकती है। अतः अभिभावकों को खुद ही अपने बच्चे के स्वास्थ्य की जिम्मेदारी लेनी होगी। वह पहले अपने बच्चे की सुरक्षा सुनिश्चित करें उसके बाद ही बच्चों को स्कूल भेजें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here