हैल्थ पॉलिसी की आड़ में ऐसे बनाते थे लोगों को निशाना, लूट लेते थे जिदंगी भर की दौलत,जानिए क्या है मामला

0
- Advertisement -
Faridabad News (citymail news ) साइबर अपराध थाना को एक बहुत बड़ी उपलब्धि मिली है। साइबर पुलिस ने पूर्ण हो चुकी लाइफ इंश्योरेंस पालिसी को पुनः चालू करवाने के नाम पर कम समय में लाखों का मुनाफा दिलाने का प्रलोभन देने वाले साइबर अपराधी गिरोह का भंडाफोड़ किया है। डीसीपी मुख्यालय डॉ अर्पित जैन ने अपने कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान जानकारी देते हुए बताया कि  आरोपी मो० इकबाल निवासी जगननाथपुर जिला मुजफ्फर बिहार,हाल निवासी ऋषि नगर रानी बाग दिल्ली व आरोपी विनोद कुमार निवासी बादशाहपुर थाना मछली शहर उत्तर प्रदेश हाल निवासी मनसा राम पार्क उत्तम नगर दिल्ली को गिटफ़तार कर 4 दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया था।
फरीदाबाद पुलिस द्वारा पकडे गए जालसाजो ने इसी तरह खुद को मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कर्मी बतलाकर पीड़ित यशपाल निवासी फरीदाबाद को झूठे प्रलोभन देकर अपने झांसे में ले लिया और उसकी पालिसी जो वर्ष 2018 में पूरी हो गयी थी, को पुनः चालू करने का झांसा देकर अलग अलग समय पर अपने भिन्न भिन्न बैंकों के 6 फर्जी बैंक खातो में 22,63,226/- रुपए धोखाधड़ी से हासिल कर लिए, जब  पीड़ित ने अपने पैसो को लौटने के लिए कहा तो गिरफ्तार जालसाज  कभी  लोकडाउन का बहाना तो कभी फॉर्मेलिटी पूरी करने की बात कहकर बात को टाल देते और बाद में पीड़ित का फोन उठाना भी बंद कर दिया।
जब पीड़ित ने परेशान होकर मैक्स लाइफ इंश्योरेंस पालिसी के ऑफिस में पता किया तो पीड़ित को अपने साथ हुई जालसाजी का पता चला और उसने इसकी शिकायत थाना साइबर अपराध फरीदाबाद मे की, जिस पर अभियोग संख्या 09 दिनांक 27.11.2020 जेर धारा 419, 420, 467, 468, 471, 120बी भा.द.स. थाना साइबर अपराध,मे दर्ज किया गया।
ऐसे दिया वारदात को अंजामः- 
पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि वह लडकियों से फोन कराते थे ताकि लोग सहज ही विश्वास करें। वह किसी भी फोन की एक सीरिज को सलेक्ट करते थे ओर लास्ट नम्बर बदल-बदल कर अलग-अलग लोगो को फोन करते थे। फोन उठाने वाले लोगो को कहते थे कि वह लाईफ इंश्योरेंस की शिकायत शाखा से बोल रही है अगर उनकी कोई भी पॉलिसी या किस्त टूट गया है या उन्होने किस्त भरनी छोड दी है या फिर पूर्ण हो गई है और अब कोई प्रॉब्लम आ रही है तो आप इस बारे में जानकारी दे। फोन करने वाली लडकियां लोगो को उपरोक्त आरोपियों के नम्बर दे देती थी। आरोपियान लोगो से फोन कर उनकी इंश्योरेंस कंपनी के बारे में पूछते अगर कंपनी मैक्स लाईफ की होती तो उनको इंश्योरेंस प्लान के बारे में बताते और उनको कम समय में ज्यादा फायदे का प्रलोभन देकर अपने अलग-अलग खातों में पैसा डलवा लेते थे।
  पुलिस आयुक्त ओ.पी. सिंह ने शिकायत पर संज्ञान लेते हुए आरोपियो को जल्द पकडने के निर्देश  दिए। जिसके उपरान्त  निरीक्षक बसन्त कुमार, प्रबंधक थाना साईबर अपराध, फरीदाबाद के नेतृत्व मे अनुसंधान अधिकारी स.उ.नि. नरेंदर, उ.नि. कैलाश चंद, एच.सी दिनेश, मु. सि. वीरपाल, मु.सि. मोनू, महिला मु.सि. अंजू, सिपाही अंशुल, कर्मवीर व सुमित, की एक टीम का गठन किया। जो उपरोक्त साईबर टीम ने साईबर तकनीक का प्रयोग करके, कडी मेहनत से अपराधियों को गिरफतार किया था। गिरफ्तार शुदा जालसाजो ने अपने अन्य साथियों के बारे में भी खुलासा किया है, जो जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होंगे  पुलिस ने आरोपियों से 14,10,000/-रुपये व कालिंग के लिए इस्तेमाल 21 मोबाइल फोन व सिम बरामद कर  आरोपियों का 4 दिन का रिमांड पूरा होने पर अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here