डीसी ने कहा, ऐसी व्यवस्था करें अधिकारी, ना हो पाए सडक़ हादसा, परिवार के लिए होता है दुखदायी

0

Faridabad News (citymail news) उपायुक्त यशपाल ने कहा कि सडक़ सुरक्षा हमारी सबसे पहली जिम्मेदारी है। अगर किसी भी सडक़ पर कोई हादसा होता है और किसी व्यक्ति की मृत्यु अथवा घायल हो जाता है तो वह उसके परिवार के लिए बड़ी क्षति है। ऐसे में किसी भी दुर्घटना के तुरंत बाद घटना के कारणों की जांच करें ताकि भविष्य में ऐसी घटना न हो। उपायुक्त यशपाल  जिला रोड सेफ्टी कमेटी व सुरक्षित स्कूल वाहन पालिसी की मीटिंग में अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।

उपायुक्त ने मीटिंग में निर्देश दिए कि एनएचएआई, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी व समार्ट सिटी सहित जितनी भी एजेंसियों की सडक़ें हैं वह अपनी सडक़ों से अतिक्रमण तुरंत हटाएं। इनमें एनएच-8 और बाईपास सहित सभी प्रमुख सडक़ों पर तुरंत अतिक्रमण हटाएं और मिट्टी व धुल भी साफ करें। उन्होंने कहा कि इस संबंध में पहले भी निर्देश दिए गए हैं और अगर इस बार लापरवाही की गई तो इस संबंध में कड़ा निर्णय लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सर्दी का मौसम चल रहा है और कोहरा पडऩे की वजह से यातायात बाधित होता है और दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। उन्होंने कहा कि सभी सडक़ों पर सुरक्षा के मानकों को पूरा रखें। सभी सडक़ों पर निर्धारित सडक़ सुरक्षा चिन्हों को अंकित करें। सभी सडक़ों पर सफेद व पीली पट्टी के आलावा जेबरा क्रासिंग अवश्य होनी चाहिए। मीटिंग में यातायात पुलिस फरीदाबाद की तरफ से रिपोर्ट प्रस्तुत की गई कि नवंबर माह में  57 सडक़ दुर्घटनाएं हुई हैं और इससे 33 मृत्यु हुई हैं और 45 लोग घायल हुए हैं। उन्होंने बताया कि एलसन टी प्वाईंट पर ग्रिल नहीं लगी है और कंपनियों के कर्मचारी यहां ग्रिल से कूदकर इधर-उधर आते-जाते रहते हैं। इसलिए पलवल से बल्लभगढ़ की तरफ एलसन टी प्वाईंट से अनाज मंडी कट तक रेलवे पुल के मध्य छह गुणा छह फुट ऊंची ग्रील लगवाई जाए। इसके साथ ही गुडईयर चौक से अनाज मंडी कट बल्लभगढ़ व सेक्टर-58 के कट को भी बंद करने की मांग रखी गई
मीटिंग में एसडीएम फरीदाबाद जितेंद्र कुमार, एसडीएम बडख़ल पंकज सेतिया, एसडीएम बल्लभगढ़ अपराजिता सहित सभी विभागों के अधिकारी व सडक़ सुरक्षा संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here