90 गरीब हिन्दू-मुस्लिम बेटियों की शादी कराकर सुर्खियों में आई नीतू मौसी

0
source amar ujala
- Advertisement -

New Delhi: गरीब तबके के लोगों के घर जन्मी बेटियों के लिए नीतू मौसी किसी भगवान से कम नहीं है। नीत मौसी गरीब घर की बेटियों की शादी करवाने का जिम्मा ले रही हैं, शादी से लेकर बेट की विदाई तक सारा खर्च भी उठा रही हैं। इनके इस काम में स्थानीय किन्नर समाज भी मदद कर रहा है। जानकारी के मुताबिक अब तक नीतू मौसी 9 साल में 90 गरीब घर की बेटियों की शादी करवा चुकी हैं। जिन बेटियों की शादी हुई है, उनमें हिन्दु-मुस्लिम दोनों धर्म की बेटियां शामिल हैं। खास बात यह है कि इस कोराना काल में भी बेटियों की शादी करने का सिलसिला रुका नहीं है।

कौन है नीतू मौसी
66 साल की नीतू मौसी भरतपुर की रहने वाली हैं, और वह एक किन्नर है। वह अपनी सालाना कमाई को बेटियों की शादी में खर्च कर रही हैं। उनके इस काम में उनके समुदाय के लोग भी मदद कर रहे हैं। किन्नर नीतू मौसी की इस जिंदादिली के भरतपुर में लोग दीवाने हो रहे हैं। नीतू कहती हैं कि वह हिन्दु-मुस्लिम दोनों धर्म की गरीब बेटियों की शादी एक ही मंडप में कराती है। ऐसे करने के पीछे वह कहती हैं कि इससे हिन्दू-मुस्लिम के भाईचारा और भी मजबूत होता है। मौसी कहती हैं कि बेटी की शादी के दौरान उसे सोने के गहने बनाकर दिए जाते हैं, और लाखों रुपये वहीं खर्च करती हैं,इस काम में वह किसी से एक रुपया नहीं लेती हैं।

कोराना काल में भी हुई बेटियों की शादी
नीतू मौसी कहती हैं कि इस कोरोना काल में 10 बेटियों की शादी की गई है। तीन मुस्लिम बेटी व सात हिन्दू बेटी की शादी करवाई गई है। उन्होंने बताया कि शादी के बाद और बेटी के ससुराल जाने तक जितनी भी रस्में होती हैं वह सभी रस्मों को धूमधाम से सेलिब्रेट करती हैं। वह कहती हैं मैं ऐसा इसलिए कर रहीं हूं क्योंकि मुझे अच्छा लगता है। पैसे की तंगी की वजह से किसी की बेटी कुंआरी नहीं रहनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here