32 साल के इस टीचर को मिला ग्लोबल टीचर प्राइज, लड़कियों के जीवन में किया ये बदलाव

0
Photo source abp
- Advertisement -

New Delhi: महाराष्ट्र के एक 32 साल के टीचर को ग्लोबल टीचर प्राइज से नवाजा गया है। उन्हें प्राइज के तौर पर 10 लाख डॉलर यानि कि सात करोड़ 38 लाख रुपये मिला है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस टीचर ने इस राशि को दूसरे प्रतिभागियों में बांटने की बात कही हैं। बताते चले कि इस टीचर का नाम रंजीत सिंह दिसाले हैं। इनके बारे में कहा जा रहा है कि उन्होंने लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने व उसे तकनीक से जोडऩे की कोशिश की है।

जब दिसाले ने स्कूल को बदलने का लिया जिम्मा
जानकारी के अनुसार रंजीत दिसाले साल 2009 में सोलापुर जिले के पारितेवादी गांव पहुंचे। यहां जब वह स्थानीय प्राइमरी स्कूल पहुंचे तो उन्होंने देखा कि स्कूल की अधिकतर जगहों पर पशुओं को रखा गया है। और यहीं कारण है कि कोई भी अपनी लड़कियों को पढऩे के लिए नहीं भेज रहा है। लड़कियों के परिजनों को लगता था कि स्कूल का यहीं हाल रहने वाला है, इसमें सुधार नहीं आएगा। इसके बाद रंजीत ने घर-घर जाकर लोगों को जागरूक किया। साथ ही लड़कियों को स्कूल आने व पढऩे के लिए तैयार किया।

जब पढऩे के लिए लड़कियां हुई तैयार तो यह समस्या आई
दिसाले की मेहनत रंग लाई। अधिकतर लड़कियों के परिवार वाले स्कूल भेजने के लिए तैयार हुए। लेकिन समस्या यह थी कि अधिकतर किताबें अंग्रेजी में थी। जिसे दिसाले ने वहां की मातृभाषा में अनुवाद किया। जिससे लड़कियों को पढऩे में मदद मिली। साथ ही किताबों को तकनीक से भी जोड़ा। यह तकनीक थी क्यूआर कोड देना, ताकि वीडियो लेक्चर में छात्राएं शामिल हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here