मालविका ने कहा दिव्यांग जरूर हूं, पर कार्य करने से कोई रोक नहीं सकता

0
image tweeted by malvika iyer
- Advertisement -

New Delhi:

मालविका अय्यर का नाम तो आपने सुना ही होगा। जिन्होंने महज 13 साल की उम्र में अपने दोनों हाथ खो दिए थे। आज भी वह हादसे को याद कर सहम जाती हंै। दरअसल, 13 साल की उम्र में मालविका ने अपने दोनों हाथ ग्रेनेड विस्फोट में खो दिए। लेकिन मालविका ने इसे अपनी कमजोरी बनाने की जगह इसको अपनी ताकत के रुप में शामिल किया है। खास बात यह है कि वह आज दुुनिया के लिए एक मिसाल के तौर पर देखी जाती हैं। दरअसल, गुरुवार को उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल से एक वीडियो शेयर किया। जिसका केपशन उन्होंने लिखा कि हां मेरे पास दिव्यांगता है। सच्चाई यह है कि मुझे दूसरों की तुलना में रास्ते थोड़े अलग लेने पड़ सकते हैं। लेकिन मेरी दिव्यांगता मुझे किसी काम को करने से रोक नहीं सकती हैं। मैं तैयार हूं वल्र्ड विकलांगता दिवस मनाने के लिए।

वीडियो में दिया यह खास संदेश
महज 15 सैकेंड के वीडियो में मालविका ने दिखाया कि भले ही उनके हाथ नहीं हैं। लेकिन किसी काम को करने में उन्हें दिक्कत नहीं आ सकती हैं। यह वीडियो देख आप यह जरूर समझ गए होंगे। वीडियों में मालविका बाल बनाते हुए नजर आ रही हैं। बताते चले कि मालविका के इस वीडियो पर हजारों की संख्या में लाइक्स व कमेंट आए हैं। लोगों ने कहा कि जिस तरह से तुम खुद को प्रस्तुत कर रही हो। वह बिल्कुल अपने आप में एक सटीक उदाहरण है, उन लोगों के लिए जो दिव्यांग होने से खुद को छोटा व कमजोर समझने लगते हैं। वहीं दूसरे यूजर ने लिखा आप से लाखों लोगों को प्रेरणा मिलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here