जजपा ने फेंका पासा: सीएम और गृहमंत्री से कहा, रद्द करें किसानों पर दर्ज किए गए मुकदमें

0
- Advertisement -

चंडीगढ़  जननायक जनता पार्टी ने राज्य सरकार से आग्रह करते हुए मांग की है कि  किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज किए गए मुकदमे तुरंत वापस लिए जाएं। जेजेपी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि दिल्ली कूच के दौरान जितने भी किसानों पर मुकदमे दर्ज किए गए उन्हें राज्य सरकार द्वारा तुरंत वापस लेने चाहिए। उन्होंने कहा कि इस विषय को लेकर जेजेपी नेता जल्द राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल व गृहमंत्री अनिल विज से मुलाकात करेंगे और उनसे आग्रह करेंगे। वे वीरवार को चंडीगढ़ स्थित इनसो के केंद्रीय कार्यालय पर पत्रकारों से रूबरू हो रहे थे। इस अवसर पर जेजेपी प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंहवरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. केसी बांगड़प्रदेश कार्यालय सचिव रणधीर सिंह आदि मौजूद रहे। साथ ही जेजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने उम्मीद जताई कि केंद्र सरकार और किसानों के बीच चल रहे वार्ता के दौर से सकारात्मक परिणाम किसानों के हित में आएंगे।

धरना-प्रदर्शन करना किसानों का अधिकार-

दिग्विजय चौटाला ने कहा कि अपनी बात रखने के लिए धरना-प्रदर्शन करना किसानों का अधिकार है। उन्होंने कहा कि किसानों के दिल्ली कूच के दौरान व्यवस्था स्थापित करने के लिए राज्य सरकार व पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के लिहाज से कदम उठाए और उस दौरान मुकदमे भी दर्ज हुए। दिग्विजय ने राज्य सरकार से मांग करते हुए आग्रह किया कि इस दौरान जिन-जिन लोगों पर मुकदमे दर्ज किए गए उनके ऊपर से तुरंत मुकदमे हटाने चाहिए। उन्होंने कहा कि हम भी किसान परिवार से जुड़े हुए है और राज्य की सरकार भी किसानों की सरकार है इसलिए प्रदेश सरकार इस दिशा में तुरंत कदम उठाएं। दिग्विजय ने कहा कि इस विषय को लेकर जल्द राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और गृह मंत्री अनिल विज से भी मुलाकात करके बातचीत की जाएगी। 

photo source ani

किसानों के बीच निरंतर बातचीत का दौर जारी-

दिग्विजय चौटाला ने कहा कि किसानों की मांगों को लेकर केंद्र सरकार और किसानों के बीच निरंतर बातचीत का दौर जारी है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री के बयान का हवाला देते हुए कहा कि केंद्र ने एमएसपी को लिखित तौर पर शामिल करने के संकेत दिए है जो कि सरकार की ओर से सकारात्मक कदम है। उन्होंने कहा कि एमएसपी को लेकर किसानों के संशय और एमएसपी की स्पष्टता को देखते हुए जेजेपी ने भी यही मांग की थी जिसे सरकार पूरा करने को राजी है। उन्होंने कहा कि किसानों से तीन दिसंबर की बजाय एक दिसंबर को जल्द बातचीत करने की हमारी मांग को भी केंद्र ने माना था।

सकारात्मक परिणाम आने की उम्मीद-

दिग्विजय चौटाला किसानों से केंद्र सरकार की हो रही बातचीत से सकारात्मक परिणाम आने की उम्मीद जताते हुए कहा कि एसएमसी के अलावा अन्य मुद्दों पर भी किसानों के साथ सरकार बातचीत कर रही है और किसानों के हित में फैसले लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि बातचीत का दौर सही दिशा में आगे बढ़ रहा है और इसके सकारात्मक परिणाम आएंगे। वहीं दिग्विजय ने दोहराया कि जेजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह चौटाला व पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं की इस पर पैनी नजर बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here