दिल्ली-एनसीआर के बाद बदरपुर-फरीदाबाद बार्डर को जाम कर सकते हैं किसान, पुलिस बल अलर्ट पर

0
- Advertisement -

दिल्ली, नोएडा, गुरूग्राम, सिंधू बार्डर, गाजीपुर और चिल्ला बार्डर के बाद अब बदरपुर-फरीदाबाद बार्डर को भी किसान संगठन जाम करने की योजना बना रहे हैं। इस योजना की जानकारी सामने आते ही फरीदाबाद पुलिस चौंकन्नी हो गई है और बार्डर पर चौकसी बढ़ा दी गई है। बुधवार की सुबह ही खुफिया विभाग से जानकारी आने के साथ ही फरीदाबाद के सराय ख्वाजा थाने पर पुलिस का जमावड़ा शुरू हो गया। रिजर्व फोर्स को भी तैयार रहने की हिदायत दी गई है। वहीं दूसरी ओर युवा कांग्रेस ने किसान बिलों के विरोध में चंडीगढ़ स्थित हरियाणा के मुख्यमंत्री निवास पर जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं की हाजिरी व उग्रता को देखते हुए पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल कर उन्हें खदेडऩे की कोशिश की। भारी पुलिस बल ने प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए उन पर पानी की बौछार फेंकी। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सीएम के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

गुप्तचर विभाग को मिली थी सूचना-

दरअसल गुप्तचर विभाग को सूचना मिली थी कि किसान संगठन अब बदरपुर-फरीदाबाद बार्डर को कभी भी जाम कर सकते हैं। इसके चलते ही फरीदाबाद पुलिस ने सक्रियता बढ़ाते हुए शहर में पुलिस की संख्या में इजाफा कर दिया है। सुरक्षा बलों को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं। बताया गया है कि मथुरा, पलवल के रास्ते होते हुए किसान बदरपुर बार्डर पहुंचने की तैयारी में हैं। वहीं पता चला है कि किसान इस आंदोलन को समर्थन देने के लिए बार्डर पर पहुंचना चाह रहे हैं। पलवल में भी बुधवार को किसानों ने एक बैठक कर निर्णय लिया है कि वह दिल्ली के लिए कूच करेंगे। किसानों की इस तैयारी को देखते हुए फरीदाबाद पुलिस को अलर्ट पर कर दिया गया है।

दिल्ली के चारों ओर किसानों का घेराव-

बता दें कि केंद्र सरकार के कृषि बिलों को लेकर देश भर के किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। पंजाब, यूपी व हरियाणा के हजारों किसानों ने दिल्ली के चारों ओर के बार्डर सील कर दिए हैं तथा धरना देकर वहीं पर बैठ गए हैं। किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार कृषि कानूनों को रद्द करे। हालांकि किसान नेताओं व सरकार के बीच बीते मंगलवार को कई दौर की वार्ता भी हो चुकी है, मगर वह किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है। बुधवार को भी इस मसले पर कई केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तौमर, मंत्री पीयूष गोयल ने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की है। फिलहाल तक समाचार आ रहा है कि इस मुद्दे पर वीरवार 3 सितंबर को दोनों पक्षों के बीच एक बार फिर से वार्ता होने की संभावना है। देखना यह है कि इस बैठक में किसानों की समस्या को लेकर क्या समाधान निकलकर सामने आता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here