भारत में 5 हज़ार रुपये में बिकने वाली चिप्स की कीमत विदेशों में 2 लाख रुपये

0
- Advertisement -

आपने अभी तक 5 रुपये से लेकर 200 रुपये तक के चिप्स खाए होंगे लेकिन आज हम आपको 2 लाख रुपये में मिलने वाले चिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं. ये चिप्स कोई आम चिप्स नहीं है, इसे बनाने के लिए कछुओं का इस्तेमाल किया जाता है. भारत में तो ये चिप्स 500 रुपये किलो बिकते हैं लेकिन विदेशों में इनकी कीमत 2 लाख रुपये है.

यूपी स्थ्ति इटावा और बंगाल के परगना में ज्ञानपुरी-बंसरी के ख़ास चिप्स को तैयार किया जा रहा है. आप सोच रहे होंगे कि ज्ञानपुरी बंसरी क्या है, तो हम बता दें कि ये कछुए की एक ख़ास प्रजाति है. चिप्स बनाने के लिए कछुओं की तस्करी की जाती है. कानूनी अपराध होने के बावजूद लोग खुलेआम कछुओं की तस्करी कर रहे हैं. एक पर्यावरणविद के मुताबिक, निलसोनिया गैंगटिस और चित्रा इंडिका नाम की तीन प्रजातियों का इस्तेमाल इस चिप्स को बनाने में होता है. चिप्स बनाने के लिए कछुए के पेट की स्किन का इस्तेमाल होता है. पेट से प्लैस्ट्रान को अलग कर लिया जाता है, फिर उसे उबालकर कर सुखा दिया जाता है. ये चिप्स काफी डिमांड में रहते हैं. एक किलो के वजन वाले कछुए से 250 किलोग्राम तक चिप्स बनाए जाते हैं.

भारत में सबसे अधिक कछुए यूपी के इटावा के आसपास चंबल के खेतों में पाए जाते हैं. यूपी के चंबल,क्वारी, सिंधू जैसी नदियों के अलावा छोटी नदियों में बहुतायत मात्रा में कछुए पाए जाते हैं. भारत में कछुओं को तस्करी करके थाइलैंड, बैंकाक, मलेशिया और चीन भेजा जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here