किसान आंदोलन को शाहीन बाग से जोडक़र क्यों देखा जा रहा है ,वजह जानकर हो जाएंगे हैरान

0
- Advertisement -

New Delhi: किसान नए कृषि कानून को लेकर सडक़ पर उतर कर प्रदर्शन कर रहे हैं। फिलहाल सैकड़ों की तदाद में किसान सिंधु बॉर्डर पर डटे हुए हैं। किसानों ने केंद्र सरकार के प्रस्ताव को खारिज़ कर दिया है। साथ ही ऐलान भी कर दिया है कि वह किसी भी कीमत पर सिंधु बॉर्डर से नहीं हटेंगे। चाहे जान ही क्यों न चली जाए। किसानों का यह अंदाज शाहीन बाग में 100 दिन चले प्रदर्शन की याद जरूर दिला देगा। याद है न कालिंदी कुंज रोड़ -13 पर जिस पर अवैध रूप से कब्जा कर लगभग 100 दिन तक मुस्लिम समुदाय की महिलाओं ने अपने नवजात बच्चों को गोद में बिठाकर प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन के दौरान महिलाएं भी यही कहती थी कि इस सडक़ को छोड़ कर नहीं जाएंगे। जिस कारण लाखों लोग नोएडा-फरीदाबाद जाने के दौरान घंटों जाम में फंसते थे। यहीं हाल सिंधु बॉर्डर पर देखने को मिल रहा है। लंबा जाम लग रहा है, जिससे दिल्ली आने जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हो रही है। फल,सब्जियां मंडियों में नहीं पहुंच रही हैं। हालांकि कोरोना वायरस के बाद लगे लॉकडाउन में दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई करते हुए शाहीन बाग का धरना तो खत्म कराया था। लेकिन कोराना अभी गया भी नहीं कि किसानों को प्रदर्शन शुरु हो गया है। ऐसे में अगर एक भी किसान को कोरोना हुआ तो न जाने कितने लोगों को अपनी चपेट में ले लेगा।

ऐसे में इन दोनों प्रदर्शन को लेकर सोशल मीडिया पर तंज कसा जा रहा है, एक यूजर तन्मय शंकर ने सोमवार को ट्विीट किया। उन्होंने लिखा कि शाहीन बाग में जो हुआ, वह सबके सामने हैं, शुरु हुआ था धरने के साथ, निकला साजिश। सिंधु बॉर्डर पर भी 4 महीने का इंतजाम है, कहीं यह बाद में साजिश ना निकले। इसलिए सावधान।

वहीं यूपी के पूुर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्विीट किया। उन्होंने लिखा कि रातें कर दी हैं उनकी काली, जो भरते सबकी थाली हैं, उनसे मिलने का वक्त नहीं, पर ढोंग के उत्सव जारी हैं।

क्या शाहीन बाग की महिलाएं जाएंगी सिंधु बॉर्डर
सिंधु बॉर्डर पर डटे किसानों को समर्थन देने क्या शाहीन बाग की मुस्लिम महिलाएं जाएंगी। यह सवाल सोशल मीडिया पर उठने लगी है। दरअसल, जब शाहीन बाग का प्रदर्शन चल रहा था तब पंजाब से भारी संख्या में किसान समर्थन देने आए थे। वहीं किसानों का कहना है कि हमारी लड़ाई सिर्फ हमारी नहीं बल्कि सबकी है। कोई भी इंसान हमारा समर्थन करना चाहता है तो उसका स्वागत है।

सोशल मीडिया पर शाहीन बाग के इंस्टाग्राम से फोटो होती हैं शेयर

शाहीन बाग ऑफिसियल-1 के इंस्टाग्राम पेज से किसानों का समर्थन किया जा रहा है। फोटो से लेकर वीडियो भी शेयर किया जा रहा है। बताते चले कि इस पेज को शाहीन बाग के प्रदर्शन के दौरान बनाया गया था। हालांकि फिलहाल किसान आंदोलन से जुड़ी फोटो डाली जा रही है। जिससे साफ होता है कि शाहीन बाग के लोग भी किसानों के साथ हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here