हिन्दुस्तान की याद में पति-पत्नी न छोड़ी विदेश की नौकरी, अब चलाते हैं फूड ट्रक

0
- Advertisement -

New Delhi: भले ही विदेश में ज्यादा पैसा कमाने के लिए लोग अपना देश छोड़ देते हैं। लेकिन विदेश में रहकर भी कई लोगों को अपने देश के प्रति प्रेम उन्हें वतन लौटने पर मजबूर कर देता है। ऐसी ही कहानी है एक दंपत्ति की। जिन्हें हिन्दुस्तान की याद आई तो विदेश की नौकरी छोड़ भारत आए। यहां पर अपना बिजनेस शुरू किया। इस बिजनेस से कई लोगों को रोजगार दिया। संग लाखों रूपये की कमाई कर रहे हैं। इस दंपत्ति का नाम है सत्या और ज्योति। इन दोनों ने मिलकर साल 2002 में फूड ट्रक की शुरुआत की। सिलसिला यहीं नहीं रुका, आज उनके पास तीन ट्रक है। फूड ट्रक शुरू करने के पीछे वजह बताते हुए दंपत्ति कहते हैं कि ओखला इलाके में कहीं भी कुछ खाने के लिए बेहतर रेस्टोरेंट नहीं था। जिसकी वजह से हमने सोचा कि जब भी कुछ करेंगे फूड से संबंधित ही करेंगे।

ओखला से शुरु हुआ था फूड ट्रक

फूड ट्रक चलाने वाले दंपत्ति बताते हैं कि उन्होंने सबसे पहले सैकेंड हेैंड एक ट्रक लिया। जिससे बढिय़ा से डिजायन किया। एक बढिय़ा शेफ को लाया गया। हालांकि पहले दिन कमाई अच्छी रही। लेकिन कुछ दिन बाद बिजनेस कम होने लगा। वजह थी वहां कई ऑफिस बंद होने लगे थे। हालांकि हिम्मत नहीं हारी। फूड ट्रक में खासतौर पर साउथ इंडियन फूड को रखा जाता है। और ग्राहकों के ऑर्डर पर तुरंत खाना बनाया जाता है।

क्या कहते हैं दंपत्ति
फूड ट्रक चलाने वाले दंपत्ति बताते हैं कि उनके पास तीन फूड ट्रक है। 20 लोगों को रोजगार भी दिया है। उनका ये फूड ट्रक दिल्ली से गुडग़ांव तक सेवा देता है। हालांकि उन्होंने कहा कि वह आने वाले समय में दिल्ली से बाहर भी फूड ट्रक को ले जाएंगे। वह बताते हैं कि कोराना काल में सब बंद हुआ। लेकिन एक बार फिर से लोगों के ऑर्डर आना शुरु कर दिया है। इसके साथ ही सत्या ने कहा कि अकसर सफलता जल्दी नहीं बल्कि धैर्य और कड़ी मेहनत से मिलती है।
source dainik bhaskar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here