अक्षय दादर में बिरयानी बेचते हैं, कभी 7 स्टार होटल में करते थे शेफ का काम

0

New Delhi: मुंबई-दादर की सडक़ किनारे एक शख्स बिरयानी का स्टॉल लगाकार अपना खर्चा निकाल रहा है। इस शख्स का नाम है अक्षय पारकर। अक्षय स्टॉल लगाने के कार्य को छोटा नहीं मानते हैं। वह कहते हैं कि कोई काम छोटा नहीं होता, बस काम करने की जिज्ञासा होनी चाहिए। अक्षय आप जैसे लोगों में से ही एक हैं, जिनकी नौकरी इस कोराना काल में छूट गई। नौकरी जाने के बाद घर का खर्च चलाना भी कठिन था। ऐसे में अक्षय ने बिरयानी का स्टॉल लगाने की सोची। अक्षय रोजाना दादर की सडक़ पर लोगों को लजीज बिरयानी खिलाते हैं। अक्षय की बिरयानी की तारीफ भी की जा रही है। खास बात यह है कि लोग इनकी बिरयानी खाने के बाद दोबारा भी आते हैं, और घर के लिए पैक भी करवाते हैं।

क्यों नहीं मानते छोटा काम

अक्षय कहते हैं कि वह कोराना काल से पहले 7 स्टर होटल में सीनियर शेफ का काम करते थे। सैलरी भी बहुत बढिय़ा थी। लेकिन जब नौकरी गई तो यह समझ नहीं आया कि परिवार का पेट पालने के लिए क्या करू। कई जगह नौकरी के लिए अप्लाई भी किया। लेकिन हर जगह से निराशा ही हाथ लगी। इसके बाद मैंने सोचा कि बिरयानी का स्टाल लगाया जाए। खाना बनाना मेरी हमेशा से पसंद थी। इसलिए मुझे स्टॉल खोलने व चलाने में ज्यादा दिक्कत नहीं आई। हां यह काम छोटा नहीं , क्योंकि जीवन ने इस काम के जरिए मुझे जीवन जीने का दूसरा मौका दिया है। बताते चले कि अक्षय की कहानी से बहुत से लोग प्रभावित हो रहे हैं, और उनके स्टॉल पर बिरयानी खाने पहुंच रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here