किसान आंदोलन में वॉटर कैनन बंद करने वाला नवदीप, बना किसानों का हीरो

0
image source- twiter users aditya menon
- Advertisement -

कोरोना महामारी में भी अपनी जान की परवाह किए बिना किसान कृषि बिल के प्रति अपना विरोध जताने के लिए दिल्ली की तरफ कूच कर रहे हैं. किसानों को रोकने के लिए हरियाणा और दिल्ली की पुलिस वाटर कैनन और आंसू गैस गोले का भी इस्तेमाल कर रही है. किसानों के प्रदर्शन की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इन तस्वीर में जो सबसे वायरल हुई है, वह है नवदीप की.’ नवदीप ने पुलिस की लाठियां की चिंता किए बिना वाटर टैंकर को बंद कर दिया. इस काम के बाद नवदीप मीडिया में मशहूर हो गए है.

ख़बरों के मुताबिक, यह घटना कुरूक्षेत्र के पास घटी है. नवदीप ग्रेजुएट हैं. नवदीप ने कहा कि मैं पढ़ने—लिखने वाला लड़का हूं लेकिन किसानों की हिम्मत को देखते हुए मैंने इसमें भाग लिया. मैं भी एक किसान का बेटा हूं. नवदीप ने बताया कि ट्रैक्टर की ट्रॉली पर चढ़कर मैं टैंकर पर चढ़ गया और बंद कर दिया. एक पुलिस वाला मेरे पीछे भागा लेकिन वो सफल नहीं हो पाया.

क्या है कृषि बिल जिसका हो रहा है विरोध

किसान एमएसपी को लेकर चिंतित है. किसानों को चिंता है कि नए बिल के आ जाने से प्राइवेट कंपनियां अपने हिसाब से एमएसपी का रेट तय करेगी. लेकिन सरकार का कहना है कि एमएसपी व्यवस्था से कोई छेड़छाड़ नहीं की जाएगी.

क्या है एमएसपी नियम
किसानों को नुकसान से बचाने के लिए सरकार उनकी फसल की एक रेट तय करती है, इसी को न्यूनतम समर्थन मूल्य एमएसपी कहा जाता है. अगर कभी फसलों की कीमत बाजार में गिर भी जाती है तो सरकार उसी दाम से किसानों से फसल खरीदती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here