घोड़ी और बैंड-बाजा के साथ राश्नकार्ड बनवाने पहुंचा घनश्याम, अविवाहित होने के कारण नहीं बना था कार्ड

0
- Advertisement -

राशनकार्ड बनवाने के लिए शादीशुदा होना जरूरी है, ऐसा हम नहीं बल्कि महाराष्ट्र स्थित पटोदा के तहसीलदार का कहना है. बीड इलाके के धनगरजवड़ा गांव का रहना वाला घनश्याम राशन कार्ड बनवाने के लिए तहसीलदार आॅफिस पहुंचा तो आॅफिसर ने शादीशुदा ना होने की वजह से राशन कार्ड बनाने से मना कर दिया.

दरअसल, घनश्याम ने राशन कार्ड के लिए आवदेन किया था लेकिन तहसीलदार ने उसका आवेदन यह कहते हुए निरस्त कर दिया कि आपका परिवार नहीं है इसलिए आपका राशन कार्ड नहीं बनेगा. राशन कार्ड बनवाने के लिए शादीशुदा होना जरूरी है. शिक्षित घनश्याम ने कहा कि बेरोजगार होने की वजह से मेरी शादी नहीं हुई है. राशन कार्ड बनवाने के लिए आप मेरी शादी करवा दीजिए.

घनश्याम ने राशन कार्ड बनवाने के लिए जो तरकीब निकाली उसकी अब हर जगह चर्चा है. युवक दूल्हे के ड्रेस में बैंड—बाजे के साथ घोड़ी पर ​बैठकर तहसील दफ्तर पहुंच गया और कहने लगा कि आप मेरी ​किसी अच्छी लड़की से शादी करवा दीजिए जिससे मुझे परिवार भी मिल जाएगा और मेरा राश्नकार्ड भी बन जाएगा. घनश्याम की इस मांग को सुनकर तहसीलदार सकते में आ गए और उन्होंने हाथों—हाथ राश्न कार्ड बनाकर दे दिया.

राश्न कार्ड बनवाने के लिए भारत का नागरिक होना चाहिए और उम्र 18 वर्ष से ज्यादा होनी चाहिए. परिवार में मुखिया के नाम पर राशन कार्ड बनता है, मुखिया से परिवार के सदस्य का संबंध होना चाहिए. दो राज्य का राश्न कार्ड नहीं बनाया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here