विकास कार्यों में गड़बड़ी के चलते फरीदाबाद के डीसी ने गांव पाली के सरपंच सुंदर को किया सस्पैंड

0
- Advertisement -

Faridabad News । विकास कार्यों में तमाम अनियमितताओं के चलते जिला उपायुक्त यशपाल यादव ने पाली गांव के सरपंच सुंदर को सस्पैंड कर दिया गया है। उपायुक्त ने इन आदेशों से विकास एवं पंचायत विभाग चंडीगढ़ के निदेशक सहित जिले के अधिकारियों को भी अवगत करवा दिया है। उपायुक्त के पास गांव पाली में विकास कार्यों में गड़बड़ी की कई शिकायतें पहुंची थी। इन सभी शिकायतों पर जांच के बाद उपायुक्त ने हरियाणा पंचायती राज एक्ट 1994 की धारा 51 के तहत सरपंच सुंदर को सस्पैंड करने के आदेश जारी किए हैं।

ये है गड़बड़ी का मामला-

उपायुक्त ने अपने आदेश में स्पष्ट तौर पर सुंदर सरपंच पर गांव में विकास कार्यों के दौरान 21600 रुपए की गड़बड़ी का दोषी पाया है। उपायुक्त ने अपने आदेश में कहा है कि सुंदर सरपंच के खिलाफ की गई जांच में वह हाजिर नहीं हुए और ना ही अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों के विरूद्व कोई सबूत दे सके। इसलिए तत्काल प्रभाव से सुंदर को सरपंच पद से निलंबित किया जाता है।

एसडीएम को सौंपी गई जांच-

उपायुक्त ने सुंदर सरपंच के खिलाफ तमाम आरोपों को लेकर बडख़ल के एसडीएम को जांच भी सौंपी है। बता दें कि गावं पाली के सरपंच सुंदर के खिलाफ विकास कार्यों में गड़बड़ी की तमाम शिकायतें उपायुक्त सहित संबंधित अधिकारियों को भेजी गई थी। इन शिकायतों की जांच में सुंदर को दोषी पाया गया। जिसके बाद उन्हें सस्पैंड करने के आदेश जारी कर दिए गए। सस्पैंड के बाद उपायुक्त ने बडख़ल के एसडीएम पंकज सेतिया को सरपंच के खिलाफ बाकि शिकायतों के जांच करने के निर्देश दिए हैं। माना जा रहा है कि निष्पक्ष तौर पर जांच के बाद निलंबित सरंपच के खिलाफ गड़बड़ी के और भी कई मामले सामने आ सकते हैं। उल्लेखनीय है कि सिटीमेल न्यूज ने भी इस मुद्दे को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इस खबर को संज्ञान में लेते हुए उपायुक्त ने अपनी जांच के आधार पर सरपंच को सस्पैंड करने का आदेश जारी किया है

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here