सन्यास के बाद धोनी ने शुरू की डेयरी फार्म और ऑर्गेनिक खेती, रोजाना 80 किलो टमाटर,और 300 लीटर दूध का हो रहा है उत्पान

0
- Advertisement -

New Delhi: क्रिकेट के पिच पर हर परिस्थिति में कूल रहने वाले मिस्टर कूल कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने इसी साल इंटनेशनल क्रिकेट से सन्यास लिया था। हालांकि वह इसी साल आयोजित आईपीएल में चैन्नई की टीम की कप्तानी करते हुए नजर आए थे। लेकिन लीग स्टेज से बाहर होने के बाद वह अपने घर रांची लौट आए थे। क्रिकेट से दूर होने के बाद धोनी ने अपना समय अब डेयरी फॉर्म और ऑर्गेनिक खेती पर लगा दिया है। धोनी के इस नए विकल्प ने उनके चाहने वालों को काफी खुशी दी है। दरअसल, रांची के धुव्रा इलाके में 55 एकड़ में धोनी ने खेती शुरू की है। यहां पर धोनी की अगुवाई में ऑगेनिक खेती की जा रही है। धोनी के खेत में टमाटर, फूलगोभी,पत्तागोभी, मौसमी और सब्जी का उत्पान हो रहा है।

हर दिन 80 किलो टमाटर की हो रहा है उत्पान
धोनी जिस काम को लेते हैं उसे एक मुकाम पर छोड़ते हैं। क्रिकेट में अकसर आपने देखा होगा। कुछ ऐसा ही अंदाज उनकी खेती में भी देखने को मिल रही है। धोनी के खेत से रोजाना 80 किलो टमाटर उत्पान हो रहा है। खास बात यह है कि इन टमाटरों की बाजार में काफी डिमांड भी है। बताया जाता है कि बाजार में सुबह होते ही सारे टमाटर बिक भी जाते हैं।

300 लीटर दुध का भी होता है उत्पान
खेती के अलावा धोनी के डयरी फॉर्म से रोजाना 300 लीटर दुध का भी उत्पान हो रहा है। जिसकी कीमत 55 रूपये लीटर रखी गई है। बताया जा रहा है कि धोनी के डेयरी फॉर्म का दुध बाजार में कुछ समय में खत्म हो जाता है। धोनी की गौशला में भारतीय नस्ल की साहीवाल और फ्रांस की फ्रिजियन गाय को रखा है। गौशाला में फिलहाल 70 गाय हैं। जिन्हें पंजाब से लाया गया है। फॉर्महास की देखरेख शिवानंद की पत्नी सुमन यादव कर रही है। इन्ही के जिम्मे पूरा सब्जी का कार्य भी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here