Weather Alert-मौसम विभाग ने दी चेतावनी, भारत के इन शहरों में आ सकता है भयंकर तूफान , हो सकती है भारी बर्बाद

0
- Advertisement -

बंगाल की खाड़ी में एक गहरे निम्र दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इस सिस्टम और इसके आसपास समुद्र में तथा वायुमंडल में स्थितियां अनुकूल बनते हुए दिखाई दे रही हैं। इसके चलते यह क्षेत्र डिप्रेशन की क्षमता में आ गया है। इसका परिणाम यह निकल रहा है कि अगले 24 घंटों में चक्रवाती तूफान आने की संभावना बन गई है। इस वर्ष 2020 के मानसून के बाद बंगाल की खाड़ी में में बनने वाले इस पहले चक्रवाती तूफान को निवार का नाम दिया जा रहा है।

स्कॉयमेट वेदर ने दी जानकारी-

इस तूफान के चलते अनुमान जताया जा रहा है कि 25 नवंबर के आसपास पाडुचेरी और कराईकल के बीच से लैंडफॉल कर सकता है। इस बात की जानकारी मौसम विभाग से जुड़े स्कॉयमेट वैदर द्वारा जारी की गई है। स्कॉयमेट वैदर के अनुसार इस सिस्टम के चलते भारत के पूर्वी तटों पर तूफान आने की संभावना बनी हुई है।

इन शहरों में भारी तूफान आने का संकेत-

स्कॉयमेट वेेदर के अनुसार इस नए सिस्टम के चलते तमिनाडू के तटीय शहरों में पंबन से लेकर चेन्नई के बीच 24 और 25 नवंबर को भीषण बारिश के साथ साथ तूफानी हवाएं चलने की संभावना बनी हुई है। स्कॉयमेट वेदर ने चेतावनी जारी की है कि इस दौरान तटीय शहरों में कई स्थानों पर बाढ की आशंका है और भारी बारिश के साथ तूफानी हवाएं तबाही मचा सकती हैं। इसके चलते सामान्य जनजीवन ना केवल प्रभावित हो सकता है, बल्कि सडक़ें क्षतिग्रस्त हो सकती हैं। इस तूफान के चलते जगह जगह बिजली आपूर्ति लडख़ड़ा सकती है तथा संचार व्यवस्था के भी खंबे उखड़ सकते हैं।

समुद्र में जाने पर लगाया प्रतिबंध-

स्कॉयमेट वेदर ने कहा है कि इस भारी तूफान की वजह से दक्षिणी मध्य भागों से लेकर दक्षिणी-पश्चिमी हिस्सों तक समुद्र में हलचल तेज होने के आसार हैं। इस संकट को देखते हुए मछुआरों सहित सभी समुद्री गतिविधयों पर पाबंदी लगा दी गई है। इन सभी को स्पष्ट तौर पर चेतावनी दी गई है कि अगले 4 से 5 दिनों तक समुद्र में किसी प्रकार की गतिविधि में शामिल ना हों। अन्यथा कोई भी बड़ा हादसा घटित हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here