दिल्ली के बाराती पहुंचगे नोएडा-गाजियाबाद के मैरिज हॉल

0

राजधानी में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए केजरीवाल सरकार सभी अहम कदम उठा रही है, फिर चाहे वह मास्क की अनिवार्यता हो या शादी में मेहमानों की संख्या घटाना. त्यौहारों के बाद बढ़ते हुए मामले को देखते हुए केजरीवाल ने शादी में 200 मेहमानों की एंट्री के फैसले को वापस ले लिया है. सरकार के इस फैसले के बाद कई परिवार के चेहरे पर मायूसी छा गई है.

केजरीवाल के इस फैसले से जहां दिल्ली के बैकेंट हॉल वाले निराश हैं वहीं दिल्ली से सटे गाजियाबाद के बैकेंट हॉल के मालिक खुश नज़र आ रहे हैं. दिल्ली के लोग अब शादी के लिए गाजियाबाद के बैकेंट हॉल बुक कर रहे हैं. दिल्लीवासियों का कहना है कि शादी के लिए कार्ड बंट चुके हैं, अब हम किसी से शादी का कार्ड वापिस तो नहीं ले सकते हैं. हमें व्यवस्था दिल्ली से दूर गाजियाबाद में करने को मजबूर हैं. बता दें कि अवसर का फायदा उठाते हुए नोएडा-गाजियाबाद के मैरिज हॉल के मालिकों ने अपने दाम कई गुना बढ़ा दिए हैं. इन मालिकों का कहना है कि कोरोना काल में अत्यधिक व्यवस्था के कारण हम रेट बढ़ाने को मजबूर हैं. 25 नवंबर को देवोत्थान एकादशी के मौके पर शादी के लिए मैरिज हॉल खाली नहीं मिल रहे हैं. बता दें कि यूपी में अभी भी 200 मेहमानों की एंट्री पर बैन नहीं है.

देश में कोरोना का कहर मार्च से जारी है और ये कब तक खत्म होगा इसका अभी तो कुछ पता नहीं चल पाया है. ऐसे में लोग कोरोना को ज़िंदगी का हिस्सा मानते हुए काम किए जा रहे हैं. देश में कोरोना संक्रिमत मरीजों की संख्या 90 लाख के आंकड़े को पार कर गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here