सीमा ढाका की तरह एएसआई अमर सिंह भी तलाशते हैं गुमशुदा बच्चों को, कई बच्चों को मिलवाया उनके परिवार से

0

Chandigarh: दिल्ली पुलिस की महिला हेड कॉन्स्टेबल सीमा ढाका का नाम तो आपने सुना ही होगा। जिसे दिल्ली पुलिस में प्रमोशन मिला है। हेड कॉन्स्टेबल से सीमा को एएसआई बना दिया गया है। सीमा को यह प्रमोशन उनकी कड़ी मेहनत को लेकर मिला है, सीमा ने गुम हुए बच्चों की तलाश करने में कामयाबी हासिल की थी। इधर फरीदाबाद की पुलिस भी गुम हुए बच्चों को ढूंढने में अपनी पूरी शक्ति लगा देती है। जी हां आपने ठीक सुना, फरीदाबाद पुलिस में दो पुलिसकर्मी ऐसे हैं जो गुम हुए बच्चों को उनके अभिवावक से मिलाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। खास बात यह है कि इन पुलिसकर्मियों की मदद दिल्ली पुलिस भी कई केसों में लेती रही है। ये पुलिसकर्मी स्टेट क्राइम ब्रांच में तैनात एएसआइ अमर सिंह और फरीदाबाद पुलिस की मिसिंग सेल में तैनात सिपाही चांद हैं। जानकारी के मुताबिक सिंह बीते डेढ साल से लापता बच्चों को ढूंढने वाली सेल में तैनात है। सिंह कहते हैं कि कुछ मामलों में बच्चों के अभिवावक उनसे संपर्क करते हैं. अपने बच्चों को ढूंढने के लिए सहायता मांगते हैं, लेकिन कुछ मामलों में उन्हें सडक़ पर बच्चे भटकते दिखाई देते हैं। जिन्हें पुलिस शेल्टर होम भेज देती है।

दूसरे राज्यों की पुलिस भी मांगती है मदद

फरीदाबाद तक ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों की पुलिस भी गुमशुदा बच्चों को ढूंढने के लिए मदद मांगती है। जानकारी के मुताबिक वे वाट्स-एप, फेसबुक व ट्विटर जैसे प्लेटफॉर्म की मदद से अपने कार्य को अंजाम देते हैं। सिंह बताते हैं कि कुछ ऐसे ग्रुप हैं जिनसे एक बार में सैकड़ों की तदाद में लोगों तक सूचना पहुंचाई जाती है। सिंह का पूरा दिन इन्ही काम में लगता है। इसके साथ ही साथ दूसरे पुलिसकर्मी सिपाही चांद साल 2015 से मिसिंग सेल में तैनात हैं। वे भी अब तक करीब 200 बच्चों को उनके परिवार से मिलवा चुके हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here