जबलपुर पुलिस का एक बेहतरीन कारनामा, स्ट्रेचर न मिलने पर कंधे पर महिला को पहुंचाया अस्पताल

0

देरी से पहुंचने की वजह से पुलिस की छवि लोगों के बीच में काफी खराब है। हालांकि ऐसा नहीं है कि पुलिस हर मौके पर फेल रहती है। बल्कि कुछ मौकों पर तो पुलिस मानवता की नई मिसाल कायम करते भी दिखाई देतीे है। कोरोना वायरस के बढ़त प्रकोप के बीच जब लॉकडाउन लगाया गया तो यही वर्दी वाले अपनी जान की परवाह किए बिना सडक़ों पर अपनी ड्यूटी देते नजर आए हैं। पुलिस के इस रैवये ने लोगों के दिलों को भी जीता है। अब आप ये सोच रहे हैं कि ये तो आपको पता है, नया क्या है इसमें। तो रूकिए पढऩा जारी रखिए। दरअसल, सोशल मीडिया पर एक विडियो तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें एक पुलिस अधिकारी अपनी पीठ पर लादकर एक घायल महिला को अस्पताल ले जाते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस महिला को अपनी पीठ पर लादकर ले जाने वाले ये शक्स जबलपुर पुलिस में एएसआई पद पर तैनात है। दरअसल, एक सडक़ हादसे में यह महिला बुरी तरह घायल हो गई। स्ट्रेचर नहीं होने से उन्हें अस्पताल ले जाने के लिए एएसआई संतोष सेन ने बिना किसी देरी के महिला को अपनी पीठ पर लाद दियाऔर समय पर अस्पताल पहुंचाया। मानवता की नई मिसाल कायम करने वाले इस एएसआई की चारों तरफ तारीफ हो रही है। और सोशल मीडिया पर इस विडियो को काफी शेयर किया जा रहा है। लोगों के द्वारा इस विडियो पर प्रतिक्रिया भी दी जा रही है। मालूम हो कि संतोष सेन व उनकी टीम ने सडक़ हादसे में घायल अन्य लोगों को भी अस्पताल पहुंचाया।
सांसद ने ईनाम देने की घोषणा
सांसद विवेक तंखा ने भी अपने ट्वीटर हैंडल पर एक विडियो को रिट्वीट करते हुए एएसआई संतोष की तारीफ की। उन्होंने तंखा फाउंडेशन की मदद से एएसआई को 10 हजार रूपये देने की घोषणा भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here