खतरनाक हुआ कोरोना, दिल्ली-एनसीआर में फिर लग सकता है लॉकडाऊन, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने क्या कहा, अमित शाह ने किया टवीट

0

New Delhi ।  कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली-एनसीआर में एक बार फिर से लॉकडाऊन लगाने की चर्चाओं ने जन्म ले लिया है। दिल्ली व एनसीआर में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के केसों ने बढ़ोतरी दर्ज करवाई है। दिल्ली के साथ साथ गुरूग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, गाजियाबाद, सोनीपत, झज्जर सहित आसपास के इलाकों में कोरोना के केस बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में कोरोना के केस 88 लाख से भी अधिक हो गए हैं। इनमें से 1 लाख 30 हजार लोगों की जान भी जा चुकी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि बेशक कोरोना पॉजीटिव की संख्या बहुत अधिक है, मगर ठीक होने वालों की संख्या भी उत्साहजनक कही जा सकती है। इसके बावजूद दिल्ली सहित एनसीआर में कोरोना के केस थमने का नाम नहीं ले रहे।

दिल्ली में पांच लाख हुई कोरोना केसों की संख्या-

दिल्ली में सोमवार को कोरोना केसों की संख्या पांच लाख के आसपास पहुंच गई है। दिल्ली में प्रतिदिन 7 से 8 हजार लोग कोरोना पॉजीटिव पाए जा रहे हैं। इसी प्रकार से दिल्ली के साथ लगते गुरूग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, गाजियाबाद व सोनीपत में भी कोरोना के केस तेज गति से बढ़ रहे हैं। दीवाली त्यौहार की वजह से भी इन केसों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। कहा जा रहा है कि इन केसों को देखते हुए दिल्ली एनसीआर में एक बार फिर से लॉकडाऊन की घोषणा की जा सकती है।

नहीं जारी हुआ अधिकारिक बयान-

हालांकि लॉकडाऊन को लेकर सरकार की ओर से किसी तरह का अधिकारिक बयान जारी नहीं हुआ है, मगर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इस संबंध में एक बयान जारी जरूर किया है। उन्होंने कहा है कि दिल्ली में लॉकडाऊन की जरूरत नहीं है। लेकिन लोगों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य किया जाना चाहिए। जैन ने कहा है कि दिल्ली में तालाबंदी का कोई असर नहीं होगा। उनके अनुसार मास्क पहनने की आदत डालने से ही कोरोना को काफी हद तक रोका जा सकता है।

डीएनए ने लॉकडाऊन को लेकर किया टवीट-

अंग्रेजी अखबार डीएनए ने एक टवीट कर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन पर आधारित एक जानकारी सांझा की है। डीएनए ने टवीट कर कहा है कि क्या लॉकडाऊन दिल्ली में फिर लगाया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री ने की बड़ी घोषणा लॉकडाऊन पर फिर। डीएनए के इस टवीट के बाद दिल्ली एनसीआर में एक बार फिर से यह चर्चा जोरों पर है। देखना अब यह है कि दिल्ली सरकार इस दिशा में क्या कदम उठाती है।

 

अमित शाह ने कहा दिल्ली को देंगे आक्सीजन की सप्लाई-

वहीं दूसरी ओर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि सुरक्षा ही कोरोना का एकमात्र उपाय है, इसलिए लोगों को कोविड-19 के बारे में बताने तथा लंबे समय में मेडीकल और स्वास्थ्य मानदंडों पर इससे पडऩे वाले नाकारात्मक प्रभाव के बारे में जानकारी देने के लिए दिल्ली में ठोस संवाद कार्यनीति होनी चाहिए। इसके लिए निर्देश भी दिए गए हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कोविड को लेकर सोमवार को दो टवीट किए हैं। दूसरे टवीट में उन्होंने कहा है कि दिल्ली में अधिक से अधिक लोगों की जान बचाने के लिए केंद्र सरकार दिल्ली को आक्सीजन सिलेंडर व अन्य सभी जरूरी स्वास्थ्य उपकरण उपलब्ध करवाएगी।

अमित शाह के ये दोनों टवीट साबित करते हैं कि दिल्ली में कोरोना की स्थिति खतरनाक होती दिखाई दे रही है। वहीं दूसरी ओर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का तालाबंदी ना लगाने का बयान जारी होना भी अपने आप में यह दर्शा रहा है कि कहीं ना कहीं इस पर मंथन किया जा रहा है। माना जा रहा है कि यदि दिल्ली में ऐसे ही हालात रहे तो आने वाले कुछ दिनों में तालाबंदी का निर्णय भी लिया जा सकता है। बता दें कि देश इससे पहले भी तालाबंदी का परिणाम देख चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here