RBI की रिपोर्ट- भयंकर आर्थिक मंदी में फंसा भारत, जमीन पर गिरी देश की जीडीपी, देंखे पूरी रिपोर्ट

0

कोरोना और लॉकडाऊन की वजह से देश बुरी तरह से आर्थिक मंदी में घिर गया है। इस भयंकर आपदा की वजह से लगातार दो तिमाही में जीडीपी घटने से देश पहली बार आर्थिक मंदी में फंस गया है। भारतीय रिजर्व बैंक के एक अधिकारी ने अपनी रिपोर्ट में आर्थिक मंदी का खुलासा किया है। यह रिपोर्ट आरबीआई की मंथली बुलेटिन में प्रकाशित हुई है। इस रिपोर्ट के अनुसार चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई से सितंबर तक) में देश का सकल घरेलू उत्पाद एक साल पहले के मुकाबले 8.6 प्रतिशत कम हो गया है। हालांकि इस रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि धीरे धीरे स्थितियां सामान्य हो रही हैं और जल्द ही इसके बेहतर होने की उम्मीद है।

अर्थव्यवस्था पर गहरा असर पड़ा-

बता दें कि कोरोना महामारी व लॉकडाऊन की वजह से अप्रैल से लेकर जून तक देश की अर्थव्यवस्था पर गहरा असर पड़ा था। तब जीडीपी की दर 23.9 प्रतिशत तक कम हो गई थी। अब आरबीआई के अधिकारियों ने आंकलन जताया है कि जुलाई से सितंबर की तिमाही का जीडीपी 8.6 प्रतिशत तक रह सकती है। हालांकि इस औपचारिक रिपोर्ट जारी होनी है।
आरबीआई अधिकारी पंकज कुमार द्वारा तैयार की गई इस रिपोर्ट को मंथली बुलेटिन में जारी किया गया है। इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत तकनीकी रूप में वर्ष 2020-21 की पहली छमाही में (मार्च से सितंबर) इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी मंदी का सामना कर रहा है। एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया है कि पहली की तरह दूसरी तिमाही में भी आर्थिक मंदी इसी प्रकार से जारी रहने की संभावना है।

जल्दी सामान्य होंगे हालात- आरबीआई

हालांकि आरबीआई ने अपने अनुमान में यह भी कहा है कि चालू वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी में 9.5 प्रतिशत की गिरावट भी हो सकती है। इस रिपोर्ट में आरबीआई ने राहत की उम्मीद भी जताई है। आरबीआई का मानना है कि हालात धीरे धीरे सामान्य हो रहे हैं। भारत जल्द ही इस आर्थिक मंदी से उबर सकता है और स्थितियां सामान्य हो सकती हैं।

प्रियंका गांधी ने कहा, खोखली है अर्थव्यवस्था-

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक टवीट के जरिए केंद्र सरकार को कठघरे में खड़ा किया है। प्रियंका ने कहा है कि आज धन-धान्य एवं समृद्धि का त्यौहार है लेकिन आज ही हमारे देश में भयंकर मंदी की खबर आई है। देश के इतिहास में पहली बार इतने बुरे आर्थिक हालात हैं। प्रियंका ने कहा है कि केंद्र सरकार के नारों में ही केवल गुलाबी तस्वीर है, जमीन पर और सरकारी रिपोर्टों में स्थिति खोखली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here