दिल्ली के बाद हरियाणा में भी पटाखे बेचने पर प्रतिबंध, पटाखों के धुंए से फैलता है कोरोना, सरकार ने लिया फैसला

0

Chandigarh News । बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए हरियाणा सरकार ने भी पटाखों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा कर दी है। सरकार का मानना है कि पटाखों की वजह से कोविड-19 का प्रसार हो रहा है। इसलिए राज्य में इस बार दीवाली पर पटाखे बेचना गैरकानूनी घोषित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने खुद एक टवीट के जरिए इसकी अधिकारिक घोषणा की है।

बता दें कि चिकित्सकों ने यह जानकारी दी है कि पटाखों से उठने वाले धुंए की वजह से कोरोना का विस्तार होने की पूर्ण संभावना है। पटाखे जलने के बाद होने वाले धुंए से खांसी व जुकाम होने की संभावना बन जाती है। ये दोनों ही बीमारियां कोरोना फैलाने के लिए घातक तौर पर जानी जाती हैं। इसके चलते ही सरकार ने इस बार दीवाली पर पटाखे बेचने को गैरकानूनी घोषित कर दिया है। इसके अंतर्गत पटाखे बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने का प्रावधान किया गया है।

 

इससे पहले दिल्ली सरकार ने भी अपने प्रदेश में पटाखे बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया है। दिल्ली सरकार ने यह कदम कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए उठाया है। दिल्ली की तर्ज पर हरियाणा सरकार ने भी तत्काल रूप से यह घोषणा कर दी है। बता दें कि ना केवल कोरोना बल्कि प्रदूषण फैलाने में भी पटाखों से होने वाला धुंआ घातक माना जाता है। दीवाली के त्यौहार पर लोग काफी अधिक संख्या में पटाखे चलाते हैं, जिससे प्रदूषण में कई गुणा अधिक बढ़ोतरी देखी जाती है। पटाखों से होने वाले धुंए से खांसी, जुकाम सहित ऐसी तमाम बीमारियां जन्म ले लेती हैं, जिनसे कोरोना होने का खतरा कई गुणा अधिक बढ़ जाता है। इसके चलते ही देश में दिल्ली व हरियाणा सहित कई राज्यों ने इस बार पटाखे बेचने पर प्रतिबंध की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here