लव जेहाद में हुई निकिता तौमर की हत्या, गुस्से में सडक़ पर जाम लगाने पहुंचे लोग, पुलिस ने खदेड़ा

0

Faridabad News (citymail news) निकिता हत्याकांड में आरोपियों को जल्द से जल्द सजा दिलवाने की मांग को लेकर छात्र संगठन एबीवीपी ने बल्लभगढ़ स्थित अग्रवाल कॉलेज के बाहर जोरदार तरीके से प्रदर्शन किया। एबीवीपी की मांग थी कि निकिता तौमर के हत्यारोपियों को जल्द से जल्द सजा दी जाए। इसी मांग को लेकर संगठन के सदस्यों ने विरोध प्रदर्शन किया और अपनी मांग रखी। इस बीच इलाके के लोगों ने बल्लभगढ़-सोहना रोड पर जाम लगाने की कोशिश की। काफी संख्या में लोग सडक़ पर जाम लगाने पहुंच गए। मगर पहले से ही सतर्कता बरत रही पुलिस ने जाम लगाने वाले लोगों को खदेड दिया। जाम की खबर मिलते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया और लोगों को तितर-बितर कर दिया।

मुस्लिम युवक के खिलाफ गुस्सा-

बता दें कि इस हत्याकांड को लेकर देश भर के लोगों में मेवात के रहने वाले युवकों के खिलाफ खासा गुस्सा है। इस पूरे प्रकरण को लव जेहाद से जोडक़र देखा जा रहा है। अग्रवाल कॉलेज में पढऩे वाली छात्रा निकिता की बीते सोमवार को दिन दहाड़े तौसीफ नाम के युवक ने हत्या कर दी थी। घटना के अनुसार बीते सोमवार को शाम को करीब 4 बजे तौसीफ अपने दोस्त रेहान के साथ निकिता को जबरन कार में डालकर ले जाना चाहता था। निकिता ने किसी तरह से खुद को तौसीफ के चंगुल से छुडाकर भागने का प्रयास किया, लेकिन तभी उसने सरेआम गोली मारकर बच्ची को मौत के घाट उतार दिया। इस हत्याकांड के बाद से लगातार एक मामला सामने आ रहा है। जिसमें इस हत्याकांड को लव जेहाद से जोडक़र देखा जा रहा है।

परिवार ने लव जेहाद का लगाया आरोप-

मृतक निकिता के परिजन साफ तौर पर आरोप लगा रहे हैं कि तौसीफ उनकी बच्ची पर मुस्लमान बनकर उसके साथ निकाह करने का दबाव डाल रहा था। मगर निकिता इसके लिए कतई तैयार नहीं थी। इसका परिणाम यह हुआ कि तौसीफ ने अपने दोस्त रेहान के साथ मिलकर निकिता की सरेआम गोली मार हत्या कर दी। इसके विरोध में ही शहर के लोग मंगलवार से ही विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। बुधवार को भी लोगों ने सडक़ों पर उतरकर अपना गुस्सा व नाराजगी जाहिर की।

एसआईटी ने शुरू की जांच-

वहीं पुलिस प्रशासन का कहना है कि इस मामले को लेकर एसआईटी का गठन हो चुका है। एसआईटी का नेतृत्व कर रहे एसीपी अनिल कुमार भी इस प्रकरण की जांच को लेकर निकिता के परिजनों से मिले और उनसे जानकारी हासिल की। वहीं केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर भी पीडि़त परिजनों को आश्वासन दे चुके हैं कि आरोपियों को किसी भी सूरत में बक्शा नहीं जाएगा। उन्होंने साफ कहा कि इस केस की सुनवाई के लिए विशेष अदालत का गठन किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here