निकिता की हत्या करने वाले का राजनैतिक कनेक्शन, कांग्रेस के पूर्व मंत्री का भतीजा निकला हत्यारोपी

0

बल्लभगढ़ के अग्रवाल कॉलेज में पढऩे वाली स्टुडेंट निकिता की हत्या करने वाले मुख्य आरोपी तौसीफ के राजनैतिक कनेक्शन का भी खुलासा हो रहा है। तौसीफ को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। बताया गया है कि तौसीफ का परिवार मेवात की राजनैतिक पृष्ठभूमि से संबंधित है। मेवात के पुराने व वजूददार परिवार खुर्शीद अहमद के परिवार से नजदीकी रिश्तेदारी की बात सामने आ रही है। इस बात का खुलासा समाचार चैनल न्यूज 18 ने किया है। न्यूज 18 की मानें तो निकिता की दिन दहाड़े हत्या करने वाला तौसीफ हरियाणा के पूर्व मंत्री खुर्शीद अहमद का रिश्ते में पोता लगता है। इसी प्रकार से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुडडा सरकार में मंत्री रहे खुर्शीद अहमद के पुत्र आफताब अहमद रिश्ते में तौसीफ के चाचा लगते हैं।

Source -: News18

मृतका के भाई ने दिया यह बयान-

वहीं मृतका के भाई ने मीडिया को दिए साक्षात्कार में इस बात की जानकारी दी है कि तौसीफ को बचाने के लिए लगातार राजनैतिक प्रभाव का इस्तेमाल किया जा रहा है। बता दें कि वर्ष 2018 में तौसीफ ने निकिता के अपहरण का प्रयास किया था। तब मामला पुलिस में तो गया, मगर उसे रफा दफा कर दिया गया था। आरोप है कि तब भी तौसीफ को राजनैतिक सरंक्षण के चलते शह दी गई थी। लोगों का कहना है कि यदि उसी समय पुलिस ठोस तरीके से कार्रवाई करती तो शायद निकिता की हत्या नहीं हो पाती। हालांकि इस हत्याकांड में तौसीफ और उसके साथी रेहान की गिरफ्तारी हो गई है। पुलिस ने लगातार पांच घंटे की कड़ी मेहनत के बाद दोनों आरोपियों को मेवात से गिरफ्तार कर लिया है।

मंत्री के खिलाफ जोरदा प्रदर्शन-

वहीं दूसरी ओर इस हत्याकांड से नाराज लोगों ने शहर में जमकर प्रदर्शन किया। बल्लभगढ़ के विधायक एवं सरकार में मंत्री मूलचंद शर्मा के खिलाफ लोगों ने नाराजगी जाहिर करते हुए नारेबाजी की। हालांकि मंत्री मूलचंद शर्मा ने दुखी परिवार को पूर्ण भरोसा दिलाया कि आरोपियों के साथ कड़ा सलूक किया जाएगा। निकिता के पोस्टमार्टम के दौरान मंत्री मूलचंद शर्मा खुद भी बादशाह खान अस्पताल गए और पुलिस को कड़े निर्देश दिए। पीडि़त परिवार ने सरकार व प्रशासन से मांग की कि इस केस को फास्ट ट्रेक अदालत में सुना जाए और आरोपियों को जल्द से जल्द कठोर सजा दी जाए।

source news 18

आरोपी तौसीफ के चाचा जावेद का बयान-

उधर आफताब अहमद के भाई जावेद अहमद ने एबीपी न्यूज को दिए साक्षात्कार में कहा है कि निकिता के परिवार वालों के प्रति वह संवेदना व्यक्त करते हैं। वह दुखी परिवार के साथ खड़े हैं। तौफीक के पास हथियार होने की बात को लेकर अनभिज्ञता जाहिर की है। बता दें कि जावेद रिश्ते में हत्यारोपी तौफीक के चाचा लगते हैं। वह सोहना विधानसभा क्षेत्र से बसपा की टिकट पर विधायक का चुनाव लड़ चुके हैं। जावेद ने इस केस में किसी भी प्रकार की राजनैतिक सिफारिश करने से इंकार किया है। उन्होंने लव जेहाद जैसे आरोपों को सिरे से नकार दिया है। बता दें कि वर्ष 2018 में भी तौफीक ने निकिता का अपहरण किया था। इस मामले को लेकर जब तौफीक के परिवार वाले बीच में आए तो उन्होंने दोबार से इस प्रकार की घटना को ना दोहराने का आश्वासन दिया था। उन्होंने कहा था कि भविष्य में तौफीन उनकी बेटी को परेशान नहीं करेगा।

स्वाती मालीवाल ने किया टवीट

निकिता की हत्या को लेकर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने भी गहरा दुख जताया है। उन्होंने कहा कि कैसी लचर कानून व्यवस्था है, जहां दिन दहाड़े एक लडक़ी को मार दिया जाता है। इतनी हिम्मत कहां से आ रही है इन जानवरों में ? हरियाणा सरकार से अपील करती हूं इस दरिंदे को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाई जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here