Delhi -NCR में छाई प्रदूषण की धुंध, सांस लेने लायक नहीं है गुरूग्राम व फरीदाबाद की हवा

0

Delhi। दिल्ली-एनसीआर में हवा खराब होने के चलते स्थिति बेहद ही विकट हो गई है। दिल्ली एनसीआर की आबो हवा खराब होने की वजह से इस क्षेत्र में धुंध जैसी स्थिति पैदा हो गई है। सर्दियों के आने से पहले ही दिल्ली-एनसीआर की हवा बेहद खराब होने लगी है, जिसकी वजह से धुंध पसरने लगी है। दिल्ली में हवा की क्वालिटी सबसे खराब स्तर पर पहुंच गई है। दिल्ली के साथ लगते गुरूग्राम व फरीदाबाद में भी प्रदूषण का स्तर बिगड़ गया है। बीते वीरवार को फरीदाबाद में एक्यूआई 354 और गुरूग्राम में 309 दर्ज किया गया है। इन दोनों शहरों की हवा को सांस लेने लायक ही नहीं माना जा रहा है।

अमर उजाला की खबर के अनुसार अमेरिका की अतंरिक्ष एजेंसी नासा ने सैटेलाईट से ली गई तस्वीरों के जरिए बड़ा खुलासा किया है। इन तस्वीरों के बाद सामने आया है कि पंजाब के अमृतसर, पटियाला, तरनतारन, फिरोजपुर तथा हरियाणा के अंबाला और राजपुरा में खेतों में बड़े पैमाने पर पराली जलाई जा रही है। वहीं देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण के लिए महज 6 प्रतिशत पराली जलाने को जिम्मेदार माना गया है। पंजाब में पराली जलाए जाने की जानकारी आने के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर ने कैप्टन अमरिंद्र सरकार से इस पर रोक लगाने की अपील की है।

इस बीच पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु प्रदूषण पर निगरानी रखने वाली एजेंसी सफर ने कहा है कि पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने से हो रहे धुआं हवा के साथ बहकर दिल्ली पहुंच रहा है। जिसकी वजह से पीएम का स्तर 2.5 के साथ प्रदूषण में बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में बीते 24 घंटों में वायु प्रदूषण में इजाफा होते हुए एयर क्वालिटी का स्तर 312 दर्ज किया गया है।

ईपीसीए ने हरियाणा के फरीदाबाद और गुरूग्राम की रिहायशी सोसायटी में लगे हुए जेनरेटर की अवधि बढ़ाने से इंकार कर दिया है। इससे पहले बिजली कनेक्शन लेने तक इस रिहायशी सोसायटी में जेनरेटर लगाने की अनुमति दी गई थी। मगर प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए अनुमति बढ़ाने से साफ मनाही कर दी गई है। इसी प्रकार से उद्योगों में लगे हुए जेनरेटर चलाने पर भी रोक लगा दी गई है। इस बीच केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने एक्शन प्लान के अंतर्गत 50 टीमें गठित की गई हैं। ये टीमें सर्दियों के दौरान वायु प्रदूषण फैलाने वाले कारकों और मानदंडों पर पूरी नजर रखेंगी। दिल्ली सरकार ने भी प्रदूषण पर रोकथाम के लिए जेनरेटर चलाने पर पाबंदी के साथ साथ वायु प्रदूषण रोकने के लिए सख्त कदम उठाने की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here