रोजगार छीनने व इन नीतियों के विरोध में सरकार के खिलाफ ओल्ड फरीदाबाद में बांटे पर्चे

0

Faridabad News (citymail news ) हरियाणा सरकार की वादाखिलाफी से नाराज नगर निगम कर्मचारियों ने आज लगातार दूसरे दिन भी ओल्ड फरीदाबाद के मुख्य बाजारों में दुकानदारों व आम जनता में पर्चे बांटकर सरकार पर कर्मचारी एवं दलित विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज के साथ 25 अप्रैल व 17 अगस्त को तथा शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव एसएन रॉय के साथ 3 जुलाई को व शहरी स्थानीय निकाय विभाग के महानिदेशक अमित अग्रवाल के साथ 30 जून व 6 अक्टूबर को हुई 5 डोर की वार्ताओं में केवल आश्वासन ही मिले हैं।

सरकार की टरकाऊ नीति से नाराज पालिका कर्मचारी-

सरकार की इस टरकाऊ नीति से नाराज पालिका कर्मचारी पिछले 2 दिन से प्रदेश भर में पर्चे बांटने का अभियान चला रहे है जो कल भी जारी रहेगा।  भोजन अवकाश के समय नगर निगम कर्मचारी पुराना फरीदाबाद स्थित बराही तालाब में एकत्रित हुए और वहां से सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बाल गुहेर की अध्यक्षता में शहर के मुख्य बाजार एवं आम जनता में पर्चे वितरण किए और सेक्टर-19 निगम कार्यालय पर अभियान का समापन किया।  इस कार्यक्रम का संचालन ओल्ड जोन के सचिव विरेंद्र भंडारी ने किया।

इन नीतियों का है विरोध-

नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री, संघ के जिला प्रधान गुरचरण खांडिया, सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला सचिव बलबीर बालगुहेर ने कहा कि संघ 25 अप्रैल से कोरोना योद्धाओं की मौत पर 50 लाख का विशेष आर्थिक सहायता राशि देने, मृतक के परिवार को नियमित रोजगार देने व 4000 जोखिम भत्ता देने, सभी तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों का ठेका समाप्त करने, छंटनी पर रोक लगाने, कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, समान काम-समान वेतन देने, सफाई एवं सीवर कर्मचारियों सहित सभी तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के क्षेत्रफल आबादी के अनुपात में नए पद सृजित करने, सफाई दरोगा के पद को डेमीनिशन काडर से बाहर करने, सफाई दरोगा व हैड सीवरमैन को तृतीय श्रेणी का स्केल देने, पालिका, परिषद एवं निगमों में लगे ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को अन्य अनुबंधित सफाई कर्मचारियों के समान वेतन एवं भत्ते देने, नियमित फायर कर्मचारियों को एसीपी का लाभ देने के लिए नियमों में ढील देने, अनुबंधित फायर कर्मचारियों को वर्दी देने, धुलाई भत्ते में बढ़ोतरी करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहा है।

नौजवानों का रोजगार छीनने का आरोप-

सरकार पर कोरोना काल में नौजवानों का रोजगार छीनने का आरोप लगाते हुए कहा कि गु्रप सी की भर्ती के बाद पालिका, परिषद और निगमों से 628 क्लर्को व कंप्यूटर ऑपरेटरों एवं जूनियर इंजीनियरों की छंटनी कर दी गई है। सरकार के इस दोहरे रवैया से पालिका कर्मचारियों में भारी आक्रोश है।  शास्त्री ने 28 व 29 अक्टूबर को 24 घंटे की क्रमिक भूख हड़ताल करेंगे। इसके बाद पालिकाओं, परिषदों एवं नगर निगमों के हजारों कर्मचारी शहरी स्थानीय निकाय विभाग के मंत्री अनिल विज के अंबाला स्थित आवास पर 8 नवंबर को विशाल आक्रोश प्रदर्शन करेंगे। इस अवसर पर अन्य के अलावा कर्मी नेता श्रीनंद ढकोलिया, चाचा प्रेमपाल, राजबीर चिण्डालिया, दान सिंह, विनोद, नैन सिंह, रविन्द्र टांक, बल्लू चिण्डालिया, श्याम सिंह, संजय, जितेन्द्र छाबड़ा, विजय चावला, रघुबीर चौटाला, महेन्द्र कुण्डिया, माइचंद जंघालिया, दर्शन सिंह सोया, राकेश चिण्ड़ालिया, बंटी खैरालिया, वेद मास्टर, ललित, महावीर, विरेन्द्र, महिला नेता शकुन्तला, कमलेश, वीना, सत्तोदेवी, बबीता सहित अन्य लोगों ने सम्बोधित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here