हिसार के इस व्यापारी ने खुद रचा अपनी मौत का ड्रामा, पुलिस ने इस तरह से किया खुलासा

0

Hansi (Haryana )  इस व्यापारी ने फिल्मी स्टाईल में पहले खुद को कार सहित जलाया और फिर अपने साथ लूट की वारदात को प्रचारित कर अपनी मौत का ड्रामा रच दिया। इस घटना ने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर खींचा था। मीडिया में भी इस घटना को लेकर हरियाणा की भाजपा सरकार की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाकर जमकर आलोचना की गई थी। लेकिन इस घटना में शुक्रवार को उस समय नया मोड़ आ गया, जब पुलिस ने मारे गए व्यापारी को ना केवल जीवित दिखा दिया, बल्कि उसे अपनी हिरासत में भी ले लिया।

ये थी पूरी घटना-

बता दें कि पिछले दिनों हरियाणा  में रहने वाले एक व्यापारी राममेहर से 11 लाख रुपए की लूट और उसे जिंदा जलाने की वारदात घटित हुई थी। घटना के समय व्यापारी राममेहर ने अपने घरवालों को फोन करके कहा था कि उसके साथ लूट की वारदात घटित हो गई है और मोटरसाईकिल पर सवार लुटेरों ने उसे कार में बंद करके आग लगा दी है। लुटेरे उसे जिंदा जला देंगे, उसे बचा लो। इस फोन के बाद राममेहर के घरवाले जब  भाटला-डाट हाईवे पर पहुंचे तो उन्हें वहां पूरी तरह से जली हुई कार मिली। इस मामले ने प्रदेश सरकार की कानून व्यवस्था को कठघरे में खड़ा कर दिया गया था। सरकार को खासी आलोचनाओं का सामना भी करना पड़ा था। लेकिन जब पुलिस ने इस मामले की छानबीन की तो सारा मामला सामने आ गया। पुलिस ने कुछ ही समय में व्यापारी राममेहर को गिरफ्तार कर सारी घटना का भंडाफोड़ कर दिया।

पुलिस को मिली थी ये सूचना-
पुलिस अधीक्षक हांसी  लोकेंद्र सिंह  ने उक्त घटना का 36 घन्टे के अन्दर व्यापारी राममेहर को जिन्दा बरामद कर झुठी रची गई साजिस का किया खुलासा  उक्त घटना बारे दिनांक 07.10.2020 को रात्री 12.05 पर प्रबन्धक थाना सदर हांसी को सुचना मिली थी कि महजत रोड़ पर राममेहर जो डाटा गांव का रहने वाला है का दो मोटरसाईकिल व एक कार मे सवार लोग पीछा कर रहे है जो सुचना पर समय करीब 12.10 AM पर पुलिस ने भाटला से महजत रोड़ पर जाकर देखा तो एक गाडी व उसमे एक व्यक्ति जला हुआ मिला तथा उसी दौरान राममेहर के परिजन भी  पर पहुंचे थे । परिजनों ने बतलाया था कि समय करीब 11.00 बजे रात्री राममेहर को घरवानों ने फोन किया तब राममेहर ने बतलाया था कि महजत रोड़ पर दो मोटरसाईकिल व एक कार उसका पिछा कर रहे है वह उसे मारेगें , आ जाओ । बाद में परिजनों द्वारा लगाये गये आरोप की नामालूम दो मोटरसाईकिल व एक कार मे सवार 5/7 व्यक्तियों ने राममेहर से पैसे छिनकर राममेहर की हत्या कर इडिको कार मे जला दिया जिस पर धारा 396/201 भा0द0स0 के तहत अभियोग अकिंत करते हुये अनुंसधान अमल मे लाया गया ।
पुलिस की तीन टीमें लगातार इस मामले की जांच कर रही थी-
दुर्घटना के विभिन्न पहलूयों को  मद्देनजर रखते हुये इसके बाद पुलिस की तीन टीमें लगातार इस मामले की जांच कर रही थी। पुलिस को गाड़ी से मोबाइल नहीं मिला था। जिसके बाद शक गहरा रहा था। पुलिस ने इसके बाद मोबाइल पर कॉलिंग के नंबर और रात के समय वहां पर नेटवर्क के नंबर ट्रैस किये थे, जिसके बाद पुलिस को इस मामले में संदिग्धता नजर आ रही थी। पुलिस अधीक्षक हांसी लोकेंद्र सिंह ने   तीन टीमो का गठन करते हुये घटना की सच्चाई का पर्दा पास किया गया ।  घटना में मृत राममेहर उक्त को अशोक नगर जिला बिलासपुर से काबू किया गया है। जो डाटा गांव का रहने वाला 35 वर्षीय राममेहर है। राममेहर की हांसी में डिस्पोजल बर्तन की फैक्ट्री है। जिससे गहनता से पूछताछ करके घटना में रची साजिश का पूरा पर्दा फाश किया जायेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here