हाथरस में युवती की गैंगरेप के बाद हत्या का विरोध, राहुल गांधी व यूपी पुलिस झड़प, जमीन पर जा गिरे राहुल

0

New Delhi News (citymail news) हाथरस में एक लडक़ी के साथ गैंग रेप व हत्या के बाद से उत्तर प्रदेश की योगी सरकार खासी मुश्किल में है। इस कांड को लेकर कांग्रेस, बसपा व सपा ने भाजपा सरकार की नींद हराम कर दी है। वीरवार की सुबह हाथरस जा रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ एक्सप्रेस वे पर यूपी पुलिस ने जमकर धक्का मुक्की की। पुलिस के इस कारनामे में राहुल गांधी जमीन पर जा गिरे। दरअसल यूपी पुलिस राहुल व प्रियंका गांधी को हाथरस जाने से रोकना चाह रही थी। इस रस्शाकसी के बीच पुलिस व कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच जमकर झड़प हो गई। राहुल गांधी भी यूपी पुलिस से उलझ गए। इस झड़प में राहुल गांधी लडख़ड़ाकर जमीन पर गिर गए, जिसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ता और अधिक भडक़ गए। पुलिस के रवैये से नाराज राहुल व प्रियंका ने पैदल ही हाथरस जाने की घोषणा की।

हाथरस की सभी सीमाएं सील-

वहीं दूसरी ओर यूपी सरकार ने हाथरस की सीमाएं सील कर दी हैं। यूपी सरकार का कहना है कि विपक्षी दलों के प्रदर्शन से प्रदेश के हालात खराब हो सकते हैं, इसके चलते ही हाथरस जाने वालों को रोका जा रहा है। कानून व्यवस्था को बनाए रखने को लेकर ही यूपी सरकार अपनी यह दलील दे रही है। उल्लेखनीय है कि अभी कुछ दिन पहले ही हाथरस में एक युवती की गैंगरेप के बाद जघन्य तरीके से हत्या कर दी गई थी। इस युवती को घायल अवस्था में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, जहां मंगलवार को उसकी दर्दनाक मौत हो गई। इसके बाद से ही यूपी सरकार व पुलिस विपक्षी दलों के निशाने पर हैं।

शव का किया गया जबरन दाह संस्कार-

आरोप है कि हाथरस गैंगरेप पीडि़ता की मौत के बाद यूपी पुलिस ने मंगलवार को देर रात करीब 2:45 मिनट पर जबरन शव का अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस की इस कार्रवाई का गांव के लोगों ने पुरजोर विरोध किया। कई जगह पुलिस की जीप के सामने लोगों ने मानव श्रृखंला बनाकर शव को ना ले जाने की गुहार लगाई। लोगों ने कहा कि अंतिम संस्कार बुधवार की सुबह किया जाए। मगर पुलिस नहीं मानी और किसी तरह से शव को श्मशान घाट लेकर पहुंच गई।

परिवार वाले भी नहीं थे अंतिम संस्कार में-

आरोप है कि अंतिम संस्कार में परिवार के लोगों को भी शामिल नहीं होने दिया गया। हालांकि पुलिस ने दावा किया कि संस्कार के दौरान परिवार वाले भी मौजूद थे। मगर लोगों का आरोप है कि परिवार वालों को घर में बंद कर दिया गया था। पुलिस के इस जबरन अंतिम संस्कार के बाद से यूपी सरकार विपक्ष के निशाने पर है।

मायावती ने भी जताया कड़ा विरोध-

इस घटना के विरोध में बसपा प्रमुख मायावती ने सुप्रीम कोर्ट से संज्ञान लेने की अपील की है। हाथरस गैंगरेप की घटना के बाद देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।  बता दें कि पुलिस टीम युवती का शव 12 लेकर दिल्ली से निकली थी और गांव पहुंचने की सूचना मिलते ही लोगों की भारी भीड़ इकठ्ठी हो गई। गांव में पहुंचते ही पुलिस शव को सीधे श्मशान लेकर जा रही थी। मगर रास्ते में लोगों ने पुलिस जीप को रोक लिया। बताया जाता है कि युवती के परिवार व पुलिस के बीच रात को संस्कार करने को लेकर झगड़ा भी हुआ था। लेकिन पुलिस ने किसी की नहीं सुनी और शव का रात को ही संस्कार कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here