1-C/ 192 किस अधिकारी ने इस अवैध निर्माण के नाम पर लिए 8 लाख रुपए, पढ़ें पूरा खुलासा

0

Faridabad News (citymail news) फरीदाबाद में अवैध निर्माण का काला कारोबार बड़ा रूप ले चुका है। निगम अधिकारी तो इस धंधे के बड़े सौदागर हैं ही, साथ ही शहर के कई और बड़े लोग भी अवैध निर्माण के धंधे में खूब हाथ आजमाते हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि अवैध निर्माण का यह धंधा खूब फल फूल रहा है। अधिकारी व माफिया इस धंधे से करोड़ों रुपए के वारे न्यारे कर रहे हैं। तोडफ़ोड़ विभाग में जो अधिकारी एक बार नियुक्ति पा लेता है, वह फिर इस विभाग को छोडक़र नहीं जाता। यही वजह है कि इन अधिकारियों पर आए दिन लाखों रुपए लेकर अवैध निर्माण करवाने के आरोप लगते हैं।

पूर्व एसडीओ पर लगा 8 लाख रुपए लेने का आरोप ?

ऐसे ही एक मामला एनआईटी नंबर-1 C/ 192 नंबर प्लाट पर बनाए जा रहे अवैध निर्माण को लेकर सामने आया है। एनआईटी नंबर-1 में  बनाए जा रहे इस अवैध निर्माण को लेकर तोडफ़ोड़ विभाग के एक पूर्व एसडीओ पर 8 लाख रुपए लेने के आरोप लगे थे। हालांकि यह अधिकारी अब इस विभाग से तबादला लेकर जा चुका है। उनके स्थान पर एक दूसरा एसडीओ नियुक्त किया गया है।  इस धंधे में सभी की हिस्सेदारी अपने आप समय पर तब्दील हो जाती है या फिर इन अवैध निर्माणों को किसी और बड़े अधिकारी का सरंक्षण हासिल होता है।

1 K./ 193 में फिर होने लगा अवैध निर्माण-

इसके अलावा तोड़े गए अवैध निर्माण दोबारा से बनाए जा रहे हैं। ऐसा ही एक अवैध निर्माण एनआईटी 1 नंबर- K.ब्लाक के प्लाट नंबर 193 पर बनाया जा रहा है। इस प्लाट पर कई दुकानें अवैध रूप से बनाई जा रही हैं। कमिश्नर यश गर्ग के आदेश पर इनकी दीवारों को हाल ही में तोड़ा गया था, मगर अब ये दुकानें फिर से बननी शुरू हो गई हैं। अब इसमें किस किसी अधिकारी की मिलीभगत है, यह जल्द ही सामने आ जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here