26गांवों को नगर निगम फरीदाबाद को देने का विरोध, युवाओं ने खून से लिखा पीएम व सीएम को पत्र

0
Faridabad News (citymail news) 26 गांवों को नगर निगम में शामिल करने का विरोध बदस्तूर जारी है इन गांवों के युवाओं ने अनोखे तरीके से अपना विरोध प्रदर्शन किया और अपने खून से खत लिख कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भेजा। गांव बड़ौली के मंदिर पर एकत्रित हुए युवाओं ने अपनी रगों में दौड़ रहे खून को निकालकर स्याही बनाया और फिर इसी खून में कलम डूबाकर खत लिखा। इतना ही नहीं युवाओं के साथ एकत्रित हुए सभी वरिष्ठ ग्रामीणों ने युवाओं की पहल का समर्थन करते हुए प्रशासन और सरकार विरोधी नारे लगाये।
शहीदी दिवस पर युवाओं ने लिया संकल्प-
 हरियाणा में शहीदी दिवस है इस दिन शहीदों ने अपनी मातृभूमि की रक्षा एवं सुरक्षा की खातिर कुर्बानी दी। किसी भी समस्या के समाधान के लिए चलाए गए आंदोलन तभी सफल होते हैं जब इनसे प्रभावित होने वाला जनमानस इसमें सम्पूर्ण रूप से शामिल हो।  गांव बड़ौली के मंदिर पर 26 गांवों को नगर निगम में शामिल करने का विरोध अनौखे ढंग से किया गया। एकत्रित हुए युवाओं ने अपने लहू से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नाम मार्मिक चिट्ठी लिखकर गुहार लगाई कि इन 26 गावों को नगर निगम फरीदाबाद में शामिल न किया जाए।
26 गांव के युवाओं की एक युवा ग्राम सभा का आयोजन किया-
यह जानकारी देते हुए युवा पंचायत के संयोजक जसवंत पवार ने बताया कि 26 गांव के युवाओं की एक युवा ग्राम सभा का आयोजन किया गया जिसमें सभी 26 गांव के दर्जनों युवाओं ने खून से हरियाणा शहीदी दिवस पर माननीय प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, और उपमुख्यमंत्री के नाम एक संदेश लिखा कि फरीदाबाद प्रशासन, नगर निगम और यहां के कुछ नेता इन 26 गांव को जबरदस्ती नगर निगम में शामिल करना चाहते हैं जबकि इन गांव की जनता और सरपंच यह नहीं चाहते कि उनका गांव नगर निगम में जाए। अपने गांवों को बचाने के लिये युवा कुछ भी कर सकते हैं। इस पंचायत की अध्यक्षता बडोली चंदेला गांव निवासी सचिन चंदीला (कोषाध्यक्ष डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन कोर्ट सेक्टर 12) फरीदाबाद ने की। चंदीला ने कहा कि हमारे यहां पर जो 26 गांव के युवाओं की युवा ग्राम सभा का आयोजन किया गया है इसमें सर्वसम्मति से नगर निगम के खिलाफ एकमत से प्रस्ताव पारित किया गया है। कि हम सभी 26 गांव नगर निगम में शामिल नहीं जाना चाहते।
खून से खत लिखने वाले युवाओं के नाम हैं ये-
खून से खत लिखने के लिये जसवंत पवार, सचिन चंदीला, विक्रांत, महेश चंदीला हिंदू, जीतू साहूपुरा, गोपाल यादव, राधे पंडित, धीरज यादव, भगत सिरोही ने अपना खून दिया। जिसे डा. सुरेंद्र कीना ने निकाला।  इस मौके पर सचिन चंदिला एडवोकेट बडौली, महेशहिन्दू , विक्रांत गौड, डॉक्टर सुरेंद्र कीना, गोपाल यादव, धीरज यादव, जीतू साहूपुरा, राधे पंडित तिलपत, सुंदर कपासिया, महिपाल आर्य सरपंच, राम नेता जी,बीर सिंह प्रधान जी,लख्मी पण्डित,धर्मवीर ,अदल,सुन्दर चंदिला ,रनवीर उर्फ अम्बि, पेमी,धर्मी,तेजपाल मेम्बर,धर्मपाल, सूरन्देर नेता जी,ओम् देव,अशोक सरपंच ,रग्बर,बीरे मेम्बर नेता जी,मस्तु ,कल्ली,सेल्क सरपंच ,अजय चंदिला,नेह्पाल पहलवान,जीत चंदिला ,बिजन्देर दायमा ,विकाश चेयरमेन,सुनील रोहित,बिट्टू,राहुल, जगपाल,मनोज,जसवीर,मोन्टू गोयल, सोनू,परवीन,रबोध ,पंकज,रविन्दर, कपिल रिन्कू,मिन्टू ,कुलदीप,सौरभ, लेखराज, लाला शामिल रहे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here