मौसम विभाग का Update : सितंबर के अंत में Delhi-NCR व हरियाणा में बारिश, मिलेगी सड़ी गर्मी से राहत

0

Delhi News (citymail news) मानसून की विदाई के साथ ही दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा सहित पंजाब व राजस्थान में लोगों का गर्मी से बुरा हाल है। सितंबर के महीने में भी लोग मई -जून के महीने की गर्मी में झुलस रहे हैं। सुबह होते ही गर्मी का प्रकोप शुरू हो जाता है और देर रात तक लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। हालांकि मौसम विभाग ने स्पष्ट कर दिया है कि अक्टूबर के महीने में मानसून अपनी वापिसी पर होगा। लेकिन इस दौरान दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा के लोगों के लिए यह खबर कुछ राहत प्रदान कर सकती है। मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि सितंबर के अंतिम सप्ताह में दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में बारिश हो सकती है।

शुष्क मौसम की झेल रहे मार-

संभावना जताई गई है कि इस सप्ताह में इन दो राज्यों सहित एनसीआर के कुछ शहरों में बारिश होने से लोगों को भारी गर्मी से राहत मिल सकती है। बता दें कि पिछले काफी समय से दिल्ली व हरियाणा वासी शुष्क मौसम की मार झेल रहे हैं। लेकिन विभाग के अनुसार सितंबर के अंतिम सप्ताह और अक्टूबर के शुरूआती दिनों में दिल्ली एनसीआर व हरियाणा में राहत देने वाली बारिश हो सकती है। इसके बाद मानसून विदाई ले लेगा और लोगों को सर्दी का स्वागत करने के लिए तैयार रहना होगा। मौसम विभाग ने बताया कि इस बार समय से पहले आने के बावजूद दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में सामान्य से 70 से 80 प्रतिशत से भी कम बारिश हुई है। यही वजह है कि दिल्ली, राजस्थान, पंजाब व हरियाणा के लोगों को सितंबर के अंतिम सप्ताह तक भी भयंकर गर्मी का सामना करना पड़ रहा है।

इस राज्य में मानसून का कहर-

वहीं दूसरी ओर मानसून की बारिश ने तमिलनाडू में कहर बरपा रखा है। रविवार को पिल्लूर डेम से पानी छोडऩे के बाद जिले के मेटपलायम और उसके आसपास के भवानी नदी के किनारे रहने वाले लोगों को बाढ़ की चेतावनी दी गई है। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार बांध के प्रवाह में लगातार बढोतरी दर्ज की जा रही है। लगातार बारिश होने से पानी का जलस्तर 13 हजार क्यूसिक दर्ज किया गया है।

उत्तराखंड और ओडिशा के कई जिले हाई अलर्ट पर-

उत्तराखंड में मानसून सुस्त है इसके बावजूद कुमाऊं में कहीं कहीं ओलावृष्टि की संभावना जताई जा रही है। हालांकि बीते 20 दिनों में उत्तराखंड में सामान्य से 70 प्रतिशत कम बारिश दर्ज की गई है। अगले कुछ दिन भी इसी प्रकार का मौसम वहां बने रहने की उम्मीद है। मानसून अपने अंतिम चरण में है और अगले सप्ताह तक मानसून की विदाई होते होते कई जिलों में भारी बारिश का अनुमान है। दूसरी ओर ओडिशा के कई जिलों में भी भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है। ओडिशा के सात जिलों के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में भारी बारिश होने की आशंका के चलते लोगों को चेतावनी भी जारी की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here