देश भर में 55 लाख के पार पहुंचा COVID-19 , दिल्ली-एनसीआर सहित फरीदाबाद व गुरूग्राम के भी बुरे हाल

0

देश भर में जहां कोरोना के केस 55 लाख को पार कर चुके हैं, वहीं दिल्ली-एनसीआर के साथ लगते गुरूग्राम व फरीदाबाद के साथ साथ सोनीपत, रोहतक, नोएडा व गाजियाबाद में भी COVID-19 को लेकर बुरा हाल होने लगा है। शनिवार को गुरूग्राम में COVID-19 के 360 नए केस आए तो वहीं फरीदाबाद में यह संख्या 290 रही है। गुरूग्राम में शनिवार को तीन COVID-19 मरीजों की मौत होने की भी खबर है। इसके बाद यह संख्या 159 पर पहुंच गई है। गुरूग्राम में कुल 17423 कोरोना केस हो चुके हैं। जबकि फरीदाबाद में यह कुल COVID-19 मरीजों की संख्या 17558 हो गई है।

COVID 19

COVID-19 के चलते  की गई थी सीलिंग-

बता दें कि गुरूग्राम व फरीदाबाद जिले दिल्ली से सटे हुए हैं। गृहमंत्री अनिल विज ने हमेशा कहा है कि दिल्ली से आवागमन की वजह से ही इन दोनों जिलों के साथ साथ सोनीपत व झज्जर में COVID-19 के केस तेज गति से बढ़ रहे हैं। इसके चलते ही उन्होंने दिल्ली की सीमा पर सीलिंग भी करवाई थी। लेकिन विज के इन आदेशों का जोरदार तरीके सेे विरोध होने लगा। जिसके बाद सरकार को बैकफुट पर आते हुए सीलिंग के आदेश वापिस लेने पड़े हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने बाजार बंद तथा इस संदर्भ में कोई भी निर्णय लेने के अधिकार राज्य सरकारों से वापिस ले लिए हैं। बाजारों में अब पहले के मुकाबले कई गुणा भीड़ बढ़ गई है। लोगों ने मास्क लगाना लगभग बंद कर दिया है।

COVID 19

मास्क ना पहनने पर फैल रहा है COVID-19

हालांकि मास्क ना पहनने पर पुलिस को पांच सौ रुपए का चालान काटने का अधिकार है, लेकिन पुलिस ने भी इससे अपना पल्ला झाड़ लिया है। वहीं दिल्ली में भी कोरोना की रफ्तार इतनी तेजी से बढ़ रही है कि शनिवार को वहां के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को बयान जारी करना पड़ा कि यह बीमारी अब खतरनाक मोड पर आ गई है। जैन ने साफ कहा कि कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड का दौर शुरू हो गया है। उन्होंने केंद्र व आईसीएमआर को भी कहा कि अब यह मान लेना चाहिए कि देश में कोरोना का बुरा दौर शुरू हो गया है। देश भर में अब कोरोना के 55 लाख से अधिक केस हो गए हैं। कहा जा रहा है कि यदि कोरोना के बढऩे की रफ्तार इसी तरह से जारी रही तो आने वाले दिनों में यह संख्या एक करोड़ पर भी पहुंच जाएगी। इसलिए केंद्र सरकार व स्वास्थ्य विभाग को ठोस कदम उठाने की जरूरत है।

दिल्ली व हरियाणा में COVID-19 की है ये स्थिति-

यदि यहां बात करें हरियाणा की तो इस राज्य में कोरोना की रफ्तार इस तेजी के साथ बढ़ रही है कि कुल पॉजीटिव केसों की संख्या 1 लाख 10 हजार के पास पहुंच गई है। वहीं मौतों का आंकड़ा भी 1 हजार को पार कर गया है। स्वास्थ्य विभाग के तमाम दावे बुरी तरह से फेल साबित हो रहे हैं। सरकार का कहना है कि कोविड को लेकर तमाम इंतजाम किए गए हैं, मगर यह इंतजाम भी नाकाफी साबित होकर रह गए हैं। वहीं दिल्ली की बात करें तो इस राज्य में कोरोना की स्थिति भी भयानक मोड ले चुकी है। शनिवार को दिल्ली में कोरोना के केस ढाई लाख के आंकड़े पर पहुंच गए हैं। दिल्ली में अब तक करीब पांच हजार लोगों की मौत भी हो चुकी है। यही वजह है कि दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री लगातार केंद्र सरकार को चेता रहे हैं। उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को भी इस स्थिति से अवगत करवा दिया है। देखना अब यह है कि देश भर में बढ़ रहे कोरोना को लेकर सरकार द्वारा क्या कदम उठाया जाता है। लेकिन वहीं सरकार के दावे भी अब कसौटी पर खरे उतरते दिखाई नहीं दे रहे हैं। पूरा देश खुलने के बाद कोविड के मामलों में बढ़ोतरी चिंताजनक दिखाई दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here