शनिवार और रविवार को Delhi -NCR व हरियाणा के कई इलाकों में बारिश होने की चेतावनी

0

New Delhi News (citymail news ) इस बार Monsoon की विदाई देर से होगी। बारिश ने देश के कई हिस्सों में कोहराम मचा रखा है। मानसून की इस बारिश की वजह से देश के कई राज्य बुरी तरह से प्रभावित हैं। लाखों लोगों को बारिश की भयानकता का सामना करना पड़ रहा है। इसके बावजूद दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़ व राजस्थान में मानसून की बारिश का असर बहुत कम देखने को मिला है। यानि कि इन राज्यों में आशा के अनुरूप मानसून की बारिश नहीं आई।

मौसम विभाग ने दी जानकारी-

मौसम विभाग IMD ने एक बार फिर से दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में अगले दो दिनों के भीतर बारिश होने की सूचना दी है। विभाग के अनुसार 19 और 20 सितंबर को दिल्ली-एनसीआर सहित हरियाणा के कई इलाकों में बारिश हो सकती है। इस बारिश से लोगों को भारी गर्मी से राहत मिलने के आसार हो सकते हैं। मौसम विभाग के अनुसार मानसून हिमालय के तराई क्षेत्रों में है और सेंटर में बरेली, वाराणसी होते हुए पटना, मालदा से असम और मेघालय तक बना हुआ है। इसका प्रभाव दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा के कई इलाकों में भी देखने को मिल सकता है।

समय से पहले 25 जून को आया था मानसून-

मौसम विभाग के अधिकारी कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक दक्षिण पश्चिमी मानसून समय से पहले 25 जून को दिल्ली आया था। यह मानसून अब अक्टूबर में वापिस जाने की संभावना दिखाई दे रही है। लेकिन उससे पहले दिल्ली-एनसीआर व हरियाणा में कई जगहों पर इसकी जोरदार तरीके से धमक दिखाई दे सकती है। विभाग के अनुसार अगले 24 घंटों में उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, और मेघालय के कुछ हिस्सों में बारिश होने की पूरी संभावना है। मौसम विभाग की मानें तो राजस्थान के मध्य भागों में निचले स्तर पर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। इसके परिणाम स्वरूप उत्तर पूर्वी हिस्सों से दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश तक एक ट्रफ रेखा बनी हुई है। इससे अंडमान निकोबार सहित कर्नाटक, केरल, तमिलनाडू, मध्यप्रदेश, तेलगांना आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्सों के साथ साथ उत्तर प्रदेश व राजस्थान के अनेक हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है। इनमें से कई राज्य अब भी बारिश की चपेट में हैं। माना जा रहा है कि मानसून अपनी विदाई के साथ कई राज्यों में और अधिक कहर बरपा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here