पलवल के उद्योगों में होगी कोरोना संदिगधों की जांच, प्रशासन ने उठाए ये बड़े कदम

0
Palwal News (citymail news ) सिविल सर्जन डा. ब्रह्मदीप ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों की बैठक लेते हुए कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में स्वास्थ्य विभाग कोई कमी नहीं छोडऩा चाहता। स्वास्थ्य विभाग की योजना के चलते पलवल में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार कम हो रही है। उन्होंने बताया कि अब पलवल विभाग उद्योगों में काम करने वाले लोगों की कोरोना जांच की योजना बना रहा है। इसके लिए सभी उद्योगों से सूची मांगी जा रही है कि उनके यहां लोगों की संख्या कितनी है। स्टाफ कहां से आता है। स्वास्थ्य विभाग की टीम अलग-अलग उद्योगों में कोरोना जांच शिविर लगाकर जांच करेगी। इस संबंध में जिला प्रशासन उद्योग जगत के लोगों से बातकर योजना में अवगत करा रहे हैं।
  • कोरोना संक्रमित मरीज लोगों के बीच घूमना नहीं चाहिए-

सिविल सर्जन ने बताया कि शहर में एक भी कोरोना संक्रमित मरीज लोगों के बीच घूमना नहीं चाहिए। इसके लिए काम चल रहा है। जहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या ज्यादा रही है वहां कोरोना जांच शिविर के आयोजन का मकसद यही था कि उसे ईलाज दिया जाए। यह अभियान लगभग कामयाब भी रहा। अब उद्योगों में कार्यरत लोगों व कोरोना के लक्षण वाले लोगों की तलाश की जाएगी। पलवल स्थित उद्योगों में देश के अलग-अलग प्रदेशों से लोग काम करने आ रहे हैं। ऐसे में कोरोना को फैलने से रोकने के लिए सभी की जांच बेहद जरूरी है। हर कंपनी में ऐसे पांच फीसदी लोगों की जांच की जाएगी जो उस जगह से आए हैं जहां कोरोना का प्रकोप ज्यादा है। सिविल सर्जन डा. ब्रह्मदीप ने बताया कि उद्योगों से सीएसआर के तहत रैपिड एंटीजन टेस्ट किट ली जाएंगी। फिर वहां काम करने वालों की जांच की जाएगी। प्रतिदिन 500 लोगों की जांच का लक्ष्य रखा जाएगा। पलवल जिले में अब तक प्रति लाख पापुलेशन पर 2121 लिए जा चुके है और हम इस आंकडे को बढाने की कोशिश कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here