हरियाणा के कैथल, करनाल व हिसार में 11 सैनीटाईजर के सैंपल फेल, मंत्री ने कहा मुकदमा दर्ज

0

Chandigarh News (citymail news ) हरियाणा में कोरोना काल में लोगों को वायरस से बचाने के लिए सैनीटाईजर के नमूने फेल आने लगे हैं। कोरोना काल में राज्य में कई स्थानों पर लोगों ने एक के बाद एक सेनीटाईजर बनाने की शुरूआत कर दी। तब किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया, लेकिन अब उनके सैंपल फेल आने लगे तो सरकार ने भी तत्काल कार्रवाई करते हुए उन उद्योगों के खिलाफ मुकदमे दर्ज करवाने आरंभ कर दिए हैं। हरियाणा में कई उद्योगों पर मुकदमें दर्ज करवाए गए हैं।

  • मुकदमा दर्ज कर लाईसेंस सस्पैंड करने का नोटिस-

पूरी जानकारी के अनुसार हरियाण में 11 सेनीटाईजर मार्का के खिलाफ मुकदमे दर्ज करवाए गए हैं। इसके साथ ही संबंधित मार्का को लाईसेंस रदद या मार्का को सस्पैंड करने का नोटिस जारी किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि हरियाणा औषधि प्रशासन ने प्रदेश भर में सेनीटाईजर के 248 सैंपल इकठ्ठे किए थे। जिनमें से 123 की रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। इनमें से 109 सैंपल ठीक पाए गए हैं, जबकि 14 सैंपल फेल पाए गए हैं। इनके अलावा 9 ब्रांड की क्वालिटी बेहद ही खराब है। इनके अलावा पांच सैंपल में मैथनॉल की अधिकता मिली है, जोकि जहर का काम करती है।

  • अधिक मैथनॉल जहर बन जाता है-

स्वास्थ्य मंत्री ने साफ कहा है कि जिन सेनीटाईजर में मैथनॉल की मात्रा अधिक है, वह सीधे तौर पर दवा की बजाए जहर है। । स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि कैथल के बेस्ट टाईम यूनिट व मदर हेल्थ ब्रांड के नमूने फेल पाए गए हैं। करनाल जिले के गलोबल बोटलर के 9 सैंपल फेल मिले हैं, जिनमें मैथनॉल की मात्रा अधिक है। हिसार से दो ब्रांड भी क्वालिटी के मुताबिक सही नहीं पाए गए हैं। इन सभी के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और अब उनके खिलाफ जांच की कार्रवाई तेज कर कानून अनुसार आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here