फरीदाबाद में ठेकेदारों को सीएम कोटे के 80 करोड़ रुपए की बंदरबांट, लाल-पीले हुए विधायक

0

Faridabad News (citymail news ) फरीदाबाद में नगर निगम के ठेकेदारों को मुख्यमंत्री एनाऊसमेंट के तहत किए गए विकास कार्यों के करीब 80 करोड़ रुपए दिए जा रहे हैं। इसके लिए बड़े पैमाने पर लॉबिंग का खेल चल रहा है। कुछ अधिकारी इस पेमेंट का भुगतान करवाने को लेकर ठेका भी ले रहे हैं। बताया गया है कि जिले के कुछ विधायकों ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से भी की है

  • पेमेंट करवाने का ले लिया ठेका-

बताया गया है कि चंडीगढ़ में लोकल बॉडी डिपार्टमेंट में बैठा इंजीनियरिंग विभाग का एक अधिकारी अपने हाथ में खजाने की चॉबी होने का दावा कर रहा है। यह हाल तो तब है ,जब इस महकमे के बॉस अनिल विज हैं। पंरतु विज की आंखों के नीचे से काजल चुराने वाले इस अधिकारी ने फरीदाबाद के अपने कई चहेते ठेकेदारों की पेमेंट निकलवाने का ठेका ले रखा है। इसकी एवज में उक्त अधिकारी पांच प्रतिशत तक कमीशन लेकर ये सारा गोलमाल कर रहा है। बताया गया है कि जिले के कुछ विधायकों ने भी इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से की है। लेकिन होना क्या है, क्योंकि इस अधिकारी का सीएम के आदेश के बावजूद भी कुछ नहीं बिगड़ा। पूर्व मंत्री विपुल गोयल ने मंत्री रहते हुए इस अधिकारी की मुख्यमंत्री से शिकायत की थी। विपुल गोयल की शिकायत पर सीएम ने इस अधिकारी को जेल में डालने के आदेश दिए थे। ये आदेश तो कई साल बाद बेशक अमल में नहीं लाए गए, मगर उक्त अधिकारी जरूर उनकी नाक के नीचे जा बैठा और अपनी दुकान फिर से शुरू कर दी। अब बेचारे विधायकों की तो इस अधिकारी के सामने औकात ही क्या है। जब सीएम के आदेश ही धरे रह गए।

  • सीएम एनाऊसमेंट की होनी है पेमेंट-

बताया गया है कि सीएम घोषणा के तहत किए गए विकास कार्यों की पेमेंट होनी है, इसके लिए फरीदाबाद नगर निगम ने लोकल बॉडी विभाग को ठेकेदारों की सूची बनाकर भेज दी। इस सूची में उक्त अधिकारी के चहेते ठेकेदारों के नाम भी शामिल थे। अधिकारी ने सैटिंग की और अपने चहेतों की पेमेंट का ठेका ले लिया। हालांकि निगम में ऐसे बहुत से ठेकेदार धक्के खा रहे हैं, जिनका भुगतान सालों से अटका हुआ है। मगर उक्त अधिकारी ने अपने चहेतों का भुगतान करवाने का ठेका क्या लिया कि पूरे नगर निगम में हल्ला मच गया। देखना अब यह है कि इस मामले में विधायकों द्वारा की गई शिकायत का क्या असर रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here