भारी भीड़ से भर गए फरीदाबाद के बाजार, प्रशासन ने भगवान भरोसे छोड़ा यह शहर

0

Faridabad News (citymail news ) कोरोना काल में बाजारों को पूरी तरह से खोलने के बाद ना तो दुकानों में सोशल डिस्टेंस दिखाई दे रहा है और ना ही बाजारों में भीड़ कम हो रही है। इसके अलावा बाजारों में रेहड़ी, पटरी व फड वालों ने भी सडक़ों पर कब्जा जमा लिया है। हालांकि जिला उपायुक्त ने इस शर्त के साथ बाजारों को खोलने की अनुमति दी थी कि दुकानदार सोशल डिस्टेंस का पालन करेंगे साथ ही सेनीटाईज की व्यवस्था करते हुए व मास्क पहनने के नियम को भी मानेंगे। इसके साथ साथ स्पष्ट तौर पर कहा गया था कि बाजार में रेहडी, पटरी व फडी नहीं लगाई जाएगी, ताकि भीड़ पर नियंत्रण रखा जा सके।

  • हवा में उड़ गए सभी नियम-

मगर इन तमाम नियमों की अब बाजारों में धज्जियां उड़ती हुई दिखाई दे रही हैं। किसी को नियम व कानून की पालना करने की परवाह नहीं है। लोगों को इससे बेहद परेशानी हो रही है। बात करें फरीदाबाद के सबसे बड़े बाजार एनआईटी नंबर -1 और 5 की तो , वहां सबसे अधिक भीड़ भरा नजारा दिखाई देने लगा है। दुकानों पर मास्क पहनते हुए बहुत कम लोग दिखाई देते हैं, साथ ही सडक़ों पर रेहडी, पटरी व फड भी लगाई जाने लगी हैं। उपायुक्त ने इन नियमों की पालना करने के लिए निगम आयुक्त यश गर्ग को नोडल अधिकारी के तौर पर जिम्मेदारी सौंपी थी। मगर निगम आयुक्त भी अपनी जिम्मेदारी को संभालने की बजाए शहर को उसके हाल पर छोडक़र बैठ गए हैं। यही वजह है कि शहर के बाजारों में भारी भीड़ की वजह से सडक़ों पर जाम लगने लगा है। बाजारों में लोगों को खासी परेशानी हो रही है। लोग अपनी शिकायत करते हैं तो कोई सुनने वाला नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here