लोगों के भारी विरोध के बीच अटक गई फरीदाबाद -गुरूग्राम मेट्रो रेल परियोजना

0

Faridabad News (citymail news) फरीदाबाद से गुरूग्राम के बीच मेट्रो रेल चलाने का मामला एक बार फिर से लेट हो सकता है। मेट्रो रेल की डीपीआर में प्याली चौक का स्टेशन हटाए जाने के बाद सारा मामला अटक गया है। माना जा रहा है कि लोगों के भारी विरोध के बीच राज्य सरकार नए सिरे से पूरी डीआरआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) बनवाने जा रही है। इस डीपीआर में प्याली चौक को भी शामिल किए जाने की संभावना है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आदेश के बाद मेट्रो रूट को लेकर बनाई गई डीपीआर में फिर से बदलाव किया जा सकता है। माना जा रहा है कि इस बदलाव में प्याली चौक को भी मेट्रो स्टेशन की सौगात मिल सकती है। इससे पहले इस रूट से प्याली चौक को हटा दिया गया था।

  • रंग लाया विधायक का विरोध-

एनआईटी के विधायक नीरज शर्मा ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पत्र भेजकर प्याली चौक को मेट्रो रूट में शामिल ना करने पर आपत्ति जताई थी। नीरज शर्मा ने परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा के माध्यम से भी सरकार को अपने विरोध से अवगत करवाया था। परिवहन मंत्री ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर प्याली चौक रूट को भी इसमें शामिल करने की सिफारिश की है। माना जा रहा है कि एनआईटी क्षेत्र के लोगों का विरोध व विधायक की नाराजगी के चलते इस रूट पर दोबारा से सर्वे करवाने की योजना तैयार की जा रही है। मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर ने दोबारा सर्वे के लिए 10 अगस्त का समय दिया है। इस सर्वे में प्याली चौक को भी शामिल किया जा सकता है।

  • 3 साल लेट हो गई यह परियोजना-

बता दें कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस परियोजना की स्वीकृति वर्ष 2015 में की थी। लेकिन समय रहते इस पर काम शुरू नहीं हो पाया। जिसके चलते यह परियोजना करीब तीन साल लेट हो गई । इसका नुक्सान यह हुआ कि इस परियोजना पर एक हजार करोड़ रुपए का अतिरिक्त बोझ बढ़ गया है। पहले इस परियोजना पर 5900 करोड़ की लागत आनी थी, लेकिन अब यह बढक़र 6900 करोड़ हो गई है।

  • पुन: सर्वे से पहले ये रूट किया गया था तैयार-

इस परियोजना के लिए दोबारा सर्वे करवाने से पहले फरीदाबाद व गुरूग्राम के बीच जो रूट तैयार किया गया है, उसमें मेट्रो टे्रन फरीदाबाद के बाटा चौक से होते हुए अरावली गोल्फ क्लब, बडख़ल एंकलेव, पाली के्रशर जोन, मांगर पुलिस चौकी से होते हुए गुरूग्राम के मांडी एवं सैक्टर 56 वाटिका चौक को शामिल किया गया था। हालांकि इससे पहले जो रूट तैयार किया गया था, उसमें उपरोक्त स्टेशन के अलावा प्याली चौक को भी इसमें शामिल किया गया था। लेकिन बाद में फाईनल डीपीआर से प्याली चौक स्टेशन को गायब कर दिया गया। पंरतु विधायक नीरज शर्मा व लोगों के भारी विरोध के बाद एक बार फिर से इस रूट पर सर्वे का काम शुरू किया जा रहा है।

  • इतने किलोमीटर का होगा सफर-

फरीदाबाद व गुरूग्राम के बीच का यह सफर करीब 31 किलोमीटर का होगा और इस रूट पर आठ मेट्रो स्टेशन बनाए जाएंगे। यही नहीं बल्कि मेट्रो रूट के इस रास्ते में बाटा चौक एवं अरावली गोल्फ क्लब तक दो अंडरगाऊंड लाईन भी डाली जानी है। इस परियोजना में 6 एलीवेटिड लाईन भी शामिल की गई हैं। लेकिन विधायक के विरोध के चलते एक बार फिर से इस रूट का सर्वे किए जाने की तैयारी हो गई है। संभवतय: अनुमान है कि नए सर्वे में प्याली चौक स्टेशन को शामिल करने के लिए इस रूट में परिर्वतन हो सकता है। इसके लिए 10 अगस्त तक का समय निर्धारित किया गया है। नए सर्वे के बाद पूरा रूट फिर से बदला जाएगा और उसे सरकार की स्वीकृति के बाद मेट्रो रेल परियोजना के पास भेजा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here