फरीदाबाद में लगातार जारी है कोरोना से होने वाली मौतें, बुधवार को फिर आए 178 केस

0

Faridabad News (citymail news ) फरीदाबाद में कोरोना से अब हर रोज मौत हो रही है। बीते कुछ दिनों के भीतर ही कोरोना से कई लोगों की मौत हुई है। बुधवार को भी कोरोना से दो और लोगों की मौत होने की जानकारी सामने आई है। फरीदाबाद जिले में अब तक 128 लोगों की कोरोना सहित अन्य बीमारियों के चलते मौत हो चुकी है। वहीं कोरोना के बुधवार को फिर से 178 नए केस आए हैं। इन सभी को मिलाकर कोरोना पॉजीटिव की संख्या 8295 हो गई है। वहीं सर्विलांस पर 37292 लोगों को ले लिया गया है। ये वे लोग हैं, जोकि किसी ना किसी तरह से कोरोना संक्रमितों के संपर्क में आए हैं।

  • ठीक किए गए इतने मरीज-

वहीं स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि 165 लोगों को कोरोना से ठीक कर उनके घर भी भेजा जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग चाहे कितने दावे करे, मगर यह हकीकत है कि फरीदाबाद में कोरोना के मरीजों की संख्या बढऩे का सिलसिला जारी है।

  • डीसी ने की प्रेसवार्ता-

वहीं इस मामले में जिला उपायुक्त यशपाल यादव ने भी एक प्रेसवार्ता कर अपनी कार्यप्रणाली से सभी को अवगत करवाया। कोरोना को लेकर उपायुक्त यशपाल ने कहा कि जिला में कोरोना की रिकवरी दर काफी बढ़ी है और अब मरीज जल्दी ठीक हो रहे हैं। पाॅजीटिविटी दर भी कम हुआ है तथा गंभीर मरीजों की संख्या में भी कमी आई है। मरीज डबल होने के दिनों में काफी बढ़ोतरी हुई है। इस हिसाब से आगामी दो सप्ताह के बाद इसके संक्रमण में काफी तेजी से गिरावट आने की उम्मीद है।  उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन कोरोना के खिलाफ पिछले चार महीने से निरंतर लड़ाई लड़ रहा है। इस लड़ाई में समाज के अनेक लोग मदद को आगे आए और सहयोग किया। जिला प्रशासन की तैयारियों व प्रबंधों की बदौलत जिला की परिस्थितियों को देखते हुए कोरोना के खिलाफ अब तक की लड़ाई काफी कारगर रही है और इसके संक्रमण को रोकने में बड़ी सफलता प्राप्त की है।

  • डोर टू डोर सर्वे का कार्य किया-

इस जिला में स्लम एरिया, दिल्ली राज्य से काफी आबादी सटी होना तथा अधिक जनसंख्या होने के बावजूद संक्रमण को बड़े स्तर पर फैलने से रोका है। संक्रमण को रोकने का बड़ा कारण यह भी रहा कि जिला प्रशासन ने बार-बार डोर टू डोर सर्वे का कार्य किया। इस दौरान चार बार सर्वे किया गया, जिसमें स्क्रीनिंग कर मरीजों की पहचान की गई और समय पर उनका इलाज किया गया या फिर उन्हें होम क्वारेंटाइन किया गया। कांट्रैक्ट ट्रैसिंग कर अन्य लोगों को भी क्वारेंटाइन किया गया। जिला प्रशासन के अधिकारियों व कर्मचारियों की टीमें निरंतर लोगों के बीच रही और सराहनीय कार्य किया। जिला प्रशासन की ओर से आईईसी गतिविधियां चलाई गई तथा मीडिया ने भी बड़े स्तर पर लोगों को जागरूक करने का कार्य किया। निरंतर सही सूचनाओं सेे जनता का भी आत्मविश्वास बढ़ा। जिला प्रशासन ने अपने सोशल एकांडट्स के माध्यम से भी निरंतर जनता को सही व समय पर जानकारी पहुंचाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here